ई-कॉमर्स खबर

Flipkart बनना चाहता है ‘GST सुविधा प्रदाता’, लाइसेंस के लिए किया आवेदन

प्रमुख घरेलू उत्पाद के ई-कॉमर्स बाजारों में से एक, Flipkart ने GST सुविधा प्रदाता (GSP) बनने हेतु लाइसेंस के लिए आवेदन किया है | यह कदम कंपनी ने अपने विक्रेता आधार को विस्तारित करने के किया है |

इस तरह के लाइसेंस के साथ बैंगलोर स्थित यह ई-कॉमर्स मंच अब GST नेटवर्क तक सीधी पहुँच  स्थापित कर पायेगा | इस कदम से स्रोतों में टैक्स संग्रह से संबंधित आउटसोर्स और नियंत्रण लागत के बजाय ई-टेलर प्रोसेस में इनवॉइस इन-हाउस संबंधी मदद मिलेगी |

GSP के लाइसेंस के लिए आवेदन करने वाली कई कंपनियों का मुख्य कारण यह है कि वह हर महीने 2 बिलियन से अधिक चालान अपलोड करने का अधिकार प्राप्त कर सकें |

GSP की भूमिका अनुपालन के लिए GST सिस्टम से जुड़ने हेतु करदाताओं और अन्य हितधारकों के लिए प्रौद्योगिकी समाधान प्रदान करना है | यह चालान विवरण अपलोड करने, रिटर्न दाखिल करने के से लेकर, संस्था के पंजीकरण तक में विस्तारित हो सकता है |

Economic Times को जानकारी प्रदान करने वाले सूत्रों के मुताबिक Flipkart, GSTN द्वारा दूसरे चरण में प्राप्त लगभग 200 आवेदनों में से एक है, यह एक माल और सेवा कर के लिए तकनीकी बुनियादी ढांचे को संभालने वाली नोडल एजेंसी है |

एजेंसी ने पहले ही आवेदन पत्र के पहले चरण में 34 GSPs जैसे Tally, EY और Reliance Corporate IT Park शामिल हैं |

दूसरे चरण में ClearTax, Juspay, और LegalRaasta जैसे कई स्टार्टअप ने GSP लाइसेंस के लिए आवेदन करने का निर्णय लिया है, क्योंकि भुगतान पूंजी और टर्नओवर के संदर्भ में GSTN पात्रता मानदंड सामने आया है |

GSP की अंतिम सूची, जिन संस्थाओं ने लाइसेंस को मंजूरी दे दी है, वे चुनी हुए कंपनियों द्वारा GST समाधानों के प्रदर्शन के बाद बाहर हो जाएंगे | साथ ही अन्य शॉर्टलिस्ट किए गए GSP में से कुछ में Delloite और Tata Consultancy Services शामिल हैं |

विशेषज्ञों का मानना ​​है कि कई जीएसपी अन्य अनुप्रयोग सेवा प्रदाता (ASP) के लिए आवेदन कार्यक्रम इंटरफ़ेस (API) के प्रदाता बनने की कोशिश कर रहे हैं, जबकि कुछ इसे कैप्टिव जीएसपी के रूप में देख रहे हैं और अपनी प्रक्रियाओं और भागीदारों के लिए समाधान विकसित कर रहे हैं | व्यापार मॉडल को देखते हुए ऐसा लगता है कि Flipkart अपने विक्रेता भागीदारों की मदद के लिए कैप्टिव GSP की तलाश में है |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन