खबर व्यापार

कान्स फ़िल्म समारोह के नए नियम के तहत Netflix की फ़िल्में समारोह में नहीं ले सकेंगीं हिस्सा

किसने सोचा होगा कि कान्स महोत्सव जैसे बड़े आयोजन में ऑनलाइन स्ट्रीमिंग सेवाओं के प्रोडक्शन भी हिस्सा ले सकेंगे? खैर इस वर्ष, Netflix की फ़िल्मों को इस समारोह में जगह मिली है। परंतु उनकी ओर से एक नया नियम आया है, जिसके अंतर्गत Netflix कभी दोबारा यहां अपनी उपस्थिती नहीं दर्ज कर सकेगा।

मुद्दा ये है: फ़िल्में दरसल थियेटर में रिलीज़ होती हैं। और ये हमेशा थियेटरों में ही प्रिमियर होती आयी हैं। परंतु Netflix ने ये नियम तोड़ते हुए सभी फ़िल्में अपने मंच पर प्रिमियर करी हैं। जैसा कि हम उम्मीद कर सकते हैं, ये Netflix और थियेटरों के बीच तनाव का कारण है।

स्ट्रीमिंग सेवा ने हमेशा कहा है कि उन्हें फ़िल्म के थियेटर में रिलीज़ होने से कोई आपत्ती नहीं है, परंतु ये सेवा साथ ही स्ट्रीमिंह मंच पर भी रिलीज़ होनी चाहिये।

परंतु इसी कारण से फ़िल्म बनाने वाले स्ट्रीमिंग सेवाओं पर फ़िल्म लांच करने से बचते रहे हैं। ये मुद्दा तब और भी बढ़ गया था, जब कान्स ने दो Netflix फ़िल्मों निर्देशक बॉन्ग जून हो की ओक्जा और निर्देशक नोआह बॉम्बार्क की द मायरोविट्ज़ स्टोरीज़ को कान्स महोत्सव में हिस्सा लेने की अनुमती दे दी, जिस निर्णय की फ़्रांसीसी सिनेमा ने आलोचना करी।

निंदा के बाद, कान्स ने एक नियम लाया, जिसके तहत वही फ़िल्में इस महोत्सव में हिस्सा ले सकती हैं, जो फ़्रांसीसी थियेटरों में वितरण को लिये उपलब्ध हों। इसे फ़्रांसीसी नियम के साथ जोड़ दें कि कोई भी फ़िलेम रिलीज़ के 36 महीनों बाद ही स्ट्रीमिंग के लिये उपलब्ध हो सकती है, और हम एक दुविधा में फस जाते हैं। तेज़ रिलीज़ के लिये प्रचलित ये स्ट्रीमिंग सेवा साथ में रिलीज़ को लिये तो तैयार हो जायेगी, परंतु 36 महीने? बिल्कुल भ नहीं।

मुद्दे पर बात करते हुए कान्स ने कहा:

कान्स महोत्सव ने Netflix से निवेदन किया था कि वे ये फ़िल्में फ़्रांसीसी दर्शकों तक थियेटरों में पहुंचायें और केवल अपने सब्स्क्राइबरों को ही नहीं। इसी लिये महोत्सव को दुःख के साथ कहना पड़ रहा है कि हम किसी निर्णय पर नहीं पहुंच सके हैं।

Netflix के सी.ई.ओ. रीड हेस्टिंग्स ने Facebook पर इस बयान का प्रतिक्रिया इन शब्दों में दी:

ये स्थापना हमपर प्रहार करती हुई। 28 जून को Netflix पर देखिये ओक्जा। एक कमाल की फ़िल्म, जिसको कान्स महोत्सव में हिस्सा लो पाने से थियेटर की बेड़ियां रोक रही हैं।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन