खबर

टैबलेट शिपमेंट लगातार दसवीं तिमाही में भी गिरी: IDC

टैबलेटों की शिपमेंट में लगातार दसवीं तिमाही में गिरावट आयी है। 2017 की पहली तिमाही में, वैश्विक टैबलेट शिपमेंट में वर्ष-दर-वर्ष में 8.5% की गिरावट देखी गयी है। पिछले वर्ष इसी तिमाही में 39.6 मिलियन टैबलेट शिप हुए थे, वहीं इस वर्ष ये संख्या घट कर 36.2 मिलियन हो गयी है। इसमें मात्र छोटी सी अच्छी बात ये है कि पिछली पांच तिमाहियों से, इस बार गिरावट कम रही है।

ये अनुमान IDC ने लगाये हैं, जिन्होंने इसमें स्टैंड-अलोन और अलग किये जा सकने वाले, दोनों टैबलेटों को जोड़ा है, जिसका मतलब ये, कि कीबोर्ड वाले टैबलेट भी इसमें शामिल हैं। Apple अभी भी उच्च स्थान पर है, और दूसरे पर है Samsung। उच्च पांच कंपनियों के हाथ में 60.2% बाज़ार शेयर है, पिछले वर्ष के 57.3% के मुकाबले।

बाज़ार शेयर के मामले में, Apple में भी 1.3% पॉइंटों की गिरावट आयी है। वर्ष दर वर्ष शिपमेंट में पिछली तेरह तिमाहियों में गिरावट देख कर, कंपनी iPad के बिक्री के पहले अंकों पर वापस पहुंच गयी है।

दक्षिण कोरियाई कंपनी ने पिछले वर्ष जितने ही टैबलेट बेचे, परंतु इसे बार उन्होंने बाज़ार शेयर में 1.3% की वृद्धी के साथ Apple के उपर बढ़त बना ली।

Huawei ने 700,000 से भी अधिक टैबलेट बेचे और पांचों में से ये अकेली कंपनी है, जिसने वृद्धी देखी। 2.3% की छलांग के साथ, कंपनी तीसरे पायदान पर रही, और चौथा व पांचवा स्थान Amazon और Lenovo को मिला।

एक बयान में IDC के कार्यक्रम प्रेज़िडेंट रायन रीथ ने कहा:

टैबलेट बाज़ार 2010 में iPad के लांच होने के साथ स्थापित हुआ है, भले ही उससे पहले OEMओं के कितने ही असफल प्रयास रहे हों। टैबलेट बाज़ार जितने तेज़ी से 2010-2013 में बढ़ा है, वो किसी भी उपभोक्ता इलेक्टरॉनिक्स से बहुत बहतर है। परंतु लगता है कि अनेकों कारणों से उपभोक्ताओं के मध्य इनकी लोकप्रीयता कम हो गयी है। हमारा मानना है कि इसका प्रमुख कारण स्मार्टफ़ोनों पर निर्भरता रहा है।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन