खबर गैजेट्स चीन

Xiaomi अगले सप्ताह तक बेंगलुरु में खोल सकती है ‘Mi Home Store’ नामक देश का पहला ऑफलाइन स्टोर

Samsung और अन्य स्थानीय/अंतरराष्ट्रीय फोन निर्माताओं को मात देते हुए, Xiaomi पहले से ही भारत के बढ़ते बाजार में सबसे आकर्षक ब्रांड के रूप में उभरा है | और अब यह चीनी कंपनी, जिनकी बिक्री अपने देश में प्रतिस्पर्धियों के खिलाफ कमजोर पड़ चुकी है, अब भारत को अपने सबसे प्रमुख बाजारों में से एक के रूप में देख रही है |

इसी के चलते उपयोगकर्ता अनुभव में और सुधार के लिए, Xiaomi ने आज 11 मई के लिए प्रेस आमंत्रण भेजा है, जिसमें देश के पहले ऑफ़लाइन स्टोर, Mi Home Store के उद्घाटन की घोषणा की जाएगी | यह नया प्रयोग उन अफवाहों के अनुरूप है, जिसमें कंपनी द्वारा किए जा रहे विस्तार की बात कहीं जा रहीं थीं | कंपनी ने हाल ही में दक्षिण पूर्वी क्षेत्र में चीन के बाहर अपना पहला स्टोर खोला है, और वह जगह रही, सिंगापुर, लेकिन अब भारत इस श्रृंखला में अगला देश बनने वाला है |

Xiaomi पहले से ही अपने फोन और सामानों को अपने ऑनलाइन स्टोर और भारत में विशेष ई-टेलर भागीदारी के माध्यम से बेच रही है | लेकिन यह अपनी तरह का पहला Mi Home Store होगा, जो कि बेंगलुरु में खोला जा रहा है, और साथ ही यह देश में कंपनी की विशाल उपस्थिति के लिए एक महत्वपूर्ण कदम होगा |

ऑफलाइन स्टोर का अनावरण Xiaomi India के प्रबंध निदेशक, मनू कुमार जैन करेंगे, जिन्होंने हाल ही में Facebook के VR प्रयासों में शामिल होने के लिए पूर्व समूह उपाध्यक्ष, Hugo Barra की जगह ली थी |

सहायक उपकरण और अन्य उत्पादों जैसे पॉवर बैंक, हेडफ़ोन, Mi बैंड, Mi वायु शोधक, और बहुत कुछ, आप जल्द ही इस स्टोर में जाकर अनुभव लेने मात्र सुविधाओं के साथ पा सकेंगें | हालांकि, Xiaomi द्वारा इन दुकानों से उपकरणों की बिक्री की शुरुआत करने की अब तक संभावनाकम ही है |

जहाँ Xiaomi हमेशा ऑनलाइन चैनलों के माध्यम से अपने उत्पादों के विपणन पर केंद्रित रहा है, वहीं पिछले साल अपने घरेलु देश में स्टोरों की खरीद के साथ यह ऑफ़लाइन बाजार में भी चला गया है | वर्तमान में चीन में 80 Mi Home Stores हैं और Xiaomi के सीईओ के अनुसार 2017 के अंत तक यह संख्या 200 से अधिक हो जाएगी | भारत में खुदरा स्टोर खोलने के साथ, कंपनी के ऑफ़लाइन उपस्थिति पांच बाजारों की सूची में अब भारत, चीन, सिंगापुर, हांगकांग और ताइवान शामिल हैं |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन