खबर व्यापार स्टार्टअप्स

MakeMyTrip अब Naspers, Ctrip व अन्य से एक एक्विटी सेल में जुटा रही है $330 मिलियन निवेश

भारत की सबसे बड़ी यात्रा कंपनी MakeMyTrip एक नये निवेश सत्र में $330 मिलियन का निवेश जुटा रही है। ये निवेश उनके पूर्व निवेशकों Naspers और Ctrip से आया है और वो भी कुछ निजी शेयरों के वितरण और नये शेयरों की बिक्री के साथ।

NASDAQ की फ़ाइलिंग के अनुसार, MakeMyTrip, बहुराष्ट्रीय इंटरनेट व मीडिया कंपनी Naspers Limited की सब्सिडरी MIH Internet SEA Pte Ltd को 3.6 मिलियन क्लास बी शेयर, $36 प्रति शेयर के दाम पर दे रही है। इस ट्रांज़ैक्शन से कंपनी को $132 मिलियन प्राप्त होंगे। MIH को दिये गये ये क्लास बी, एक-से-एक के बदले, MakeMyTrip के समान्य शेयरों में बदले जा सकेंगे।

कंपनी इसी दाम पर चीनी यात्रा कंपनी Ctrip.com को भी शेयर दे रही है, जिससे उन्हें $33 मिलियन का निवेश प्राप्त होगा। NIH और Ctrip के साथ ये ट्रांज़ैक्शन 5 मई तक पूरे हो जाने की संभावना है।

उसके साथ ही MakeMyTrip कुछ निजी शेयरों को भी बांट रही है, जिससे वे $165 मिलियन और का निवेश जुटा सकें। शर्तों के मुताबिक, वे $36 प्रति शेयर के हिसाब से 4.5 मिलियन शेयर बांटेंगे। इस ट्रांज़ैक्शन के लिये Morgan Stanley भारत एकमात्र प्लेसमेंट एजंट है, और निवेशकों की पहचान नहीं बतायी गयी है।

निवेश का प्रयोग MakeMyTrip व्यापार के विस्तार, रणनैतिक निवेशों, तकनीक व प्रोडक्ट विकास, मार्केटिंग व प्रमोशन, वर्किंग कैपिटल और समान्य कॉर्पोरेट कार्यों में करेगी।

देश में प्रमुख यात्रा बुकिंग कंपनी का स्थान बनाये रखने के लिये कंपनी ने आक्रामक प्लानों की घोषणा करी है, प्रमुखतः होटल व पैकेज क्षेत्र में। ये पहले ही दो बजट प्रमुख सेगमेंट Value+ और वैकल्पिक घर में रहने पर केंद्रित RightStay चला रहे हैं, वहीं Ibibo के पास भी अपना बजट होटल सेगमेंट GoStay है।

इस नयी डील से MakeMyTrip के सबसे बड़े निवेशक के रूप में Naspers का स्थान भी पक्का हो जायेगा। इस दक्षिण अफ़्रीकी मूल के निवेशक के पास कंपनी का 35% हिस्सा है। ये कंपनी से पिछले वर्ष अक्टूबर में जुड़े थे, जब उन्होंने अपने मंच Ibibo Group को एक स्टॉक ट्रांज़ैक्शन में MakeMyTrip से जोड़ दिया था।

इस वर्ष की शुरवात में, कंपनी के सबसे बड़े निवेशक SAIF Partners ने देश की वेंचर कैपिटल इंडस्ट्री की सबसे बड़ी कैश निकासी में MakeMyTrip का बचा हुआ शेयर बेच दिया।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन