खबर भविष्यकाल

Amazon की Alexa अब कई अन्य शानदार खूबियों से हुई लैस

Alexa में Amazon नये कौशल डालकर उसे और सक्षम ही नहीं, बल्कि और भी इंटरैक्टिव बनाना चाहती है। आप जल्द ही देखेंगे कि Alexa आपकी किराने की सूचि तो आपको तेज़ आवाज़ में बतायेगी, परंतु आपने इसे रात में कोई कहानी बोलने के लिये कहा तो इसकी आवाज़ बिलकुल धीरे हो जायेगी। मतलब ये, कि ये वॉइस असिस्टंट, आवाज़ की गति व पिच में बदलाव लाकर भावनायें व्यक्त करेगी।

एक अधिकारिक ब्लॉग पोस्ट में Amazon ने बताया कि डेवलपर जल्द ही Speech Synthesis Markup Language (SSML) नाम के नये भाषा फ़्रेमवर्क का लाभ उठा सकेंगे। इसे वॉइस असिस्टंट में पहले ही जोड़ दिया गया है और ये, डेवलपरों को टैग उपलब्ध करायेगी, जिससे वे उच्चारण, लय, टाइमिंग और भावना को नियंत्रित कर सकें। इसका मतलब ये है कि Alexa बोलते समय शब्दों पर ज़ोर देकर और बात करते समय फ़्रीक्वेंसी में बदलाव लाकर, मनुष्य की बोली की नकल उतारने की कोशिश करेगी।

साथ ही, ब्लॉग पोस्ट में लिखा था:

SSML सपोर्ट से आप ये नियंत्रित कर सकते हैं कि Alexa आपके कौशल टेक्स्ट उत्तरों से कैसे बोल पाती है।

इस फ़्रेमवर्क की सहायता से, डेवलपर Alexa को और भी बहतर बनाने हेतु रुकना, बोली में बदलाव या उच्चारण, शब्द की स्पेसिंग बताने और छोटी ऑडियो क्लिप डालने जैसे कार्य भी कर सकते हैं। आप स्पीचकॉन भी डाल सकते हैं – ऐसे शब्द या वाक्य, जिनका किसी निर्धारित जगह पर विशेष मतलब हो। उदाहरण स्वरूप, UK के Amazon Echo उपभोक्ता, अब Alexa पर ‘ब्लाइमी!’ या ‘बाड़ा-बिंग!’ जैसे फ़्रेज़ इस्तेमाल कर सकते हैं।

Alexa की क्षमता बढ़ाने के लिये लाये गये पांच SSML टैग कुछ इस प्रकार हैं:

नये फ़ीचर डेवलप करने को लिये अभी केवल US, UK व जर्मनी के Alexa स्किल डेवलपरों के लिये अपडेट लायी गयी है। डेवलपर ब्लॉग में दिये सैंपल कोडों की सहायता से इसमें कई नये कौशल डाल सकते हैं। Amazon अपनी तकनीक और डेवलपरों को उपलब्ध कोड का अधिकतम लाभ उठा कर Alexa के इंट्यूटिव कौशल को और भी बहतर बनाने का प्रयास कर रही है, जो कि इतने समय में, करीब 10,000 पहुंच चुके हैं। उन्होंने चुनिंदा हार्डवेयर डेवलपरों को स्मार्ट डिवाइस बनाने देने की सुविधा देने के लिये, एक उच्च कोटि की 7- माइकों से आवाज़ पहचानने की तकनीक भी उपलब्ध करायी है।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन