खबर

अमेरिकी वायु सेना ने लांच किया है एक ‘बग बाउंटी’ कार्यक्रम

बग बाउंटी कार्यक्रम बहुत मज़ेदार होते हैं। हमने इनमें पहले ही कयी बग सामने आते हुए देखे हैं, जिन्हें Google, Microsoft और Facebook जैसी कंपनियां भी नहीं पकड़ पायीं थीं। खैर US एयर फ़ोर्स इसी अनुभव का लाभ उठाना चाहती है और उन्होंने इसके लिये एक बग बाउंटी कार्यक्रम भी लांच किया है।

US सरकार पहले से ही बग बाउंटी कार्यक्रम में दिलचस्पी दिखा रही है। उदाहरण स्वरूप, उन्होंने पिछले वर्ष अप्रैल में एक ‘हैक द पेंटागॉन’ नाम का कार्यक्रम चलाया था। परंतु एयर फ़ोर्स का ये कार्यक्रम विशेष है, क्योंकि इसमें युनाइटेड स्टेट्स से बाहर के लोग भी हिस्सा ले सकते हैं।

US के अलावा, UK, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया व न्यू ज़ीलैंड के लोग भी इस कार्यक्रम में हिस्सा ले सकेंगे। आर्मड सेवा के मेंबर भी इसमें हिस्सा ले सकते हैं, परंतु उन्हें कोई बाउंटी नहीं मिलेगी। शायद ये उनके देश के प्रति उनका फ़र्ज़ है इसलिये?

मुद्दे पर बात करते हुए एयर फ़ोर्स के प्रमुख जानकारी सुरक्षा अधिकारी पीटर किम ने बताया:

ये पहली बार है कि एयर फ़ोर्स ने अपना नेट्वर्क इतने बड़े पैमाने पर ग़लतियां खोजने के लिये खोला है। हमारे सिस्टम में घुसने की कोशिश करते रहने वाले अनेकों हैकर हैं। ये बहतर होगा कि हम कुछ अच्छे हैकरों की सहायता लेकर अपने सिस्टम को और भी मज़बूत कर पायें और अपनी सायबर सुरक्षा और रक्षा प्रणाली को और भी बहतर भी करें। हमारे साझेदार देशों की हिस्सेदारी से और भी अधिक कमियां ढूंढ़ पाने के लिये हमें और भी विकल्प मिलते हैं।

डिफ़ेंस डिजिटल सेवा के क्रिस लिंच ने कहा:

गुप्त रख कर सुरक्षा करने का विचार बहुत ही पुराना है। अपनी कमियों को दूर करने के लिये हमें पहले उन्हें पहचानना होगा और ऐसा कर पाने के लिये वैश्विक हैकर समाज की सहायता लेने से बहतर क्या होगा।

लिंच? क्या किसी ने टीम देखी भी है? डिफ़ेंस डिजिटल सेवा के लोगों को देख कर लगता है कि उन्होंने तो नहीं देखी। खैर, मज़ाक अपनी जगह है, परंतु डिजिटल डिफ़ेंस सेवा बहुत महनत कर रही है और सरकार के कयी प्रयासों को संभव बना पाने का श्रेय इन्हीं को जाता है।

बहरहाल अगर आपको लगता है कि आप कुछ प्राप्त कर सकते हैं, तो HackerOne पर पंजीकरण करवा लीजिये। पंजीकरण 15 मई से शुरू है और प्रतिद्वंद 30 मई से। हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन