खबर स्टार्टअप्स

Indian Angel Network (IAN) ने जुटाया ₹175 करोड़ का निवेश

Indian Angel Network (IAN) अपनी निवेश नीति को अगले स्तर पर लेने जाने की कोशिश में है, और इसी के चलते इसने 350 करोड़ रुपये के कोष के साथ अपना पहला फंड लॉन्च करने की योजना बनाई है | फंड का उद्देश्य Angel और Series A राउंड के बीच प्रारंभिक चरण के वित्तपोषण के बीच की खाई को भरना है |

इन्होने पहले से ही अपनी योजनाओं पर काम करना शुरू कर दिया है और लगभग 175 करोड़ के साथ वित्त पोषण के साथ पहले चरण का समापन भी कर दिया है। ETTech की रिपोर्ट से यह भी पता लगता है कि SEBI-registered Category 1 Alternate Investment Fund में अतिरिक्त 100 करोड़ रुपये का विकल्प भी है |

मौजूदा फंड में भाग लेने वाले निवेशकों में Sidbi, IIFL, YES Bank के साथ ही कुछ परिवार कार्यालय और Infosys के क्रिस गोपालकृष्णन, Hero Corporate Services के सुनील मुंजाल, Inventus Capital Partners के कंवल रेखी और Google India के राजन आनंदन जैसे कई उद्योग दिग्गज शामिल रहे |

इनमें से कुछ सदस्य 17 सेक्टर क्षेत्रों में निवेश के 450 निवेशक मंच को निर्देशित करने वाली सलाहकार समिति का भी हिस्सा हैं | इस पर टिप्पणी करते हुए, IAN के अध्यक्ष पद्मजा रूपेलल ने कहा,

“ निधि का मूल उद्देश्य, व्यक्तिगत निवेशकों की क्षेत्रीय विशेषज्ञता का लाभ उठाना है और साथ ही उन क्षेत्रों में संरक्षक कंपनियों के लिए उनकी विशेषज्ञता का उपयोग करना भी है ”

IAN Fund प्रत्येक सौदे में लगभग 20% निवेश करने वाले पूर्ण नेटवर्क के तौर पर कार्य करेगा | IAN पोर्टफोलियो वाली कंपनियों के बाद के दौर में कॉर्पोरेट या अन्य वीसी के साथ फंड का निवेश होगा | यह गैर-IAN पोर्टफोलियो वाली कंपनियों में भी निवेश करेगा |

इस फंड के साथ, IAN 50 लाख से लेकर 30 करोड़ तक के निवेश आकार को लेकर चल रहा है, साथ ही यह अन्य VCs के साथ तथा सह-निवेश की योजना भी बनाये हुए है | यह निवेश स्वास्थ्य देखभाल, Saas, बाजारों, फाइनटेक, बड़े डेटा, कृत्रिम बुद्धि और हार्डवेयर क्षेत्र में किया जाएगा |

इस फंड के लॉन्च का समय दिलचस्प है क्योंकि 2017 की पहली तिमाही में Angel और Seed निवेशों में वॉल्यूम और वैल्यू दोनों श्रेणियों में गिरावट दर्ज़ की गई है | जनवरी-मार्च 2017 में पिछले साल की इसी अवधि में 245 सौदों की तुलना में 120 सौदे हुए हैं |

IAN और IAN Fund अपने सह-निवेशकों के साथ अगले 5 वर्षों में 160 कंपनियों में 1500 करोड़ रुपये के निवेश का लक्ष्य बनाये हुए हैं |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन