इंटरनेट खबर व्यापार

Reliance Jio से जुड़े ‘108 मिलियन’ से अधिक ग्राहक, नेटवर्क टावर को दोगुना करने की है योजना

अन्य मोबाइल टेलीकॉम ऑपरेटरों की नाक में दम कर देने वाले, Reliance Jio ने 31 मार्च से अब तक 108 मिलियन उपभोक्ताओं के आँकड़े को पार कर लिया है | इससे पहले कंपनी ने फरवरी में घोषणा की थी कि इस नेटवर्क पर 100 मिलियन से अधिक ग्राहक जुड़ चुकें हैं |

अपने लॉन्च के महज छह महीनों के भीतर ही 100 मिलियन उपभोक्ताओं को जोड़ना एक प्रशंसनीय काम था, क्योंकि इसने Jio को भारतीय दूरसंचार क्षेत्र में इनती तेज इनती ग्राहक संख्या जोड़ने वाला पहला नेटवर्क बना दिया है |

ऐसे में जब ग्राहकों की संख्या बढ़ रही है, कंपनी अपने फ्री प्लानों के कारण भारी हानि का सामना भी कर रही है | RIL ने वित्तीय वर्ष की अंतिम तिमाही में भी भारी नुकसान जारी रखा है | इसे 22.50 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है, जो पिछले वित्तीय वर्ष के 7.46 करोड़ रुपये से अधिक है |

कंपनी के लिए सकल आय ₹1.22 करोड़ है, जो कि 3.15 करोड़ से नीचे है | मार्च 2017 में समाप्त होने वाली छः महीने की अवधि में कुल मूल्य ₹70,864 करोड़ था, जो इसके पहले की अवधि में यह ₹37,236 करोड़ था | वहीं सक्रिय महीनों के खर्च ₹13.63 करोड़ से 34.88 करोड़ हो गए हैं |

कंपनी ने दावा किया है कि इसके 70 प्रतिशत से अधिक ग्राहको ने प्राइम सदस्यता का चुनाव किया है | पिछले आंकड़ों के मुताबिक 72 मिलियन सदस्य सक्रिय Jio प्राइम सदस्य हैं | वहीं अब तक Jio Summer Surprise और ‘धन धना धन’ ऑफर के तहत सक्रिय उपयोगकर्ताओं की सटीक संख्या का पता नहीं चल सकता है |

उपयोगकर्ताओं की संख्या को देखते हुए, Jio अब भी अपने नेटवर्क का विस्तार करने की योजना बना रहा है | इस योजना का लक्ष्य मौजूदा 100,000 के अतिरिक्त, 100,000 से अधिक टावरों की स्थापना करना है |

चालू तिमाही के लिए Reliance Jio का पूंजीगत व्यय 18,000 करोड़ रुपये के करीब है, जो जनवरी-मार्च की तिमाही के समान है | अभी तक, Jio ने अपनी नेटवर्क सेवाओं में सुधार के लिए ₹2 लाख करोड़ रुपये तक का निवेश किया है |

विशेष रूप से, Jio केवल एकमात्र ऑपरेटर है, जिसने 800 मेगाहर्ट्ज, 1800 मेगाहर्ट्ज और 2300 मेगाहर्ट्ज के बैंडों में LTE नेटवर्क पेश किया है, जिससे यह एक जबरदस्त क्षमता का लाभ दे रहा है |

कंपनी वर्तमान में देश के ग्रामीण इलाकों में Samsung के साथ “बड़े पैमाने पर” 4G LTE नेटवर्क विस्तार परियोजना पर काम कर रही है | साथ ही भारत में 5G सेवाओं को लाने के पर भी कंपनी प्रयासरत नज़र आ रही है |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन