खबर गूगल

Waymo ने Uber पर लगाया, एक ‘गुप्त’ LiDAR डिवाइस छुपाने का आरोप

Alphabet के स्वचलित वाहन डिविज़न और Uber की चलती आ रही लड़ाई में एक नया ट्विस्ट लाते हुए, Waymo ने Uber पर एक गुप्त LiDAR डिवाइस छुपाने का आरोप लगाया है। Waymo ने कहा है कि Uber अपनी स्वचलित कारों में उपयोग कर रही महत्वपूर्ण तकनीक को गुप्त रख रही है। ये नये दावे, अगले महीने होने वाली Uber के विरुद्ध शुरवाती सुनवाई के पहले लाये गये हैं।

Waymo का कहना है कि उनके पूर्व कर्मचारी ऐंथनी लीवैंडाउस्की ने उनकी तकनीक चोरी कर के अपनी खुद की कंपनी Otto लांच करी। फिर Uber ने Otto को अधिग्रहित कर लिया और इससे संबंधित तकनीक भी उनको हाथ आ गयी।

Waymo ने कंपनी के विरुद्ध एक केस फ़ाइल किया है, जिसमें उन्होंने कहा कि Uber उनकी LiDAR तकनीक का उपयोग कर अपने स्वचलित वाहनों के कार्यक्रम को आगे बढ़ा रहे हैं। परंतु इस महीने की शुरवात मे कंपनी ने कहा कि वे खुद डेवलप करी गयी किसी भी तकनीक का उपयोग न कर के, तीसरी पार्टी से उसे सोर्स कर रहे हैं।

अब उनके नवीनतम दावों में Waymo ने कहा है कि Uber के पास एक और तकनीक है, जो उन्होंने कोर्ट की नज़रों से छुपा कर रखने का प्रयास किया है। Uber ने कहा है कि उनके पास एक और सिस्टम ज़रूर है, परंतु वो टुकड़ों में है और अभी पूरी तरह से विकसित नहीं हुई है।

अब ये इसपर निर्भर करता है कि ये दूसरा सिस्टम कितना विकसित हुआ है और क्या न्यायालय इसकी जांच के लिये कहता है या नहीं।

Uber का ये सिस्टम परेशानी में आ सकता है, अगर न्यायालय ने पाया कि ये दूसरा सिस्टम बहुत अधिक विकसित हो चुका है। और भी, क्योंकि ये सिस्टम तभी सामने आया जब पहले Google और फिर लीवैंडाउस्की के 510 Systems में काम करने वाले अशीम लिनावल ने न्यायालय को बताया कि इंजीनियरों ने Otto के लिये दो LiDAR डिवाइस विकसित किये थे – जिनमें से एक, Fuji को Uber अपना दूसरा सिस्टम बता रही है।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन