एंटरप्राइज टेक खबर गैजेट्स

Microsoft जल्द पेश कर सकता है Chromebook की तर्ज़ पर ख़ुद की डिवाइस

Google जल्द ही अपने Chromebooks के संबंध में प्रतियोगिता का गवाह बन सकता है | दरसल ! Microsoft एक ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम कर सकता है, जो कंपनी को Google के Chromebooks की तर्ज़ की तकनीक इजात करने में मदद करेगा | ऐसा प्रतीत होता है कि अगले महीने तक कंपनी इसकी घोषणा भी कर सकती है |

छात्रों के लिए एक उपकरण | यह एक आधार है जो बाज़ार में उपकरण को असीम संभावनाएं प्रदान करता है | मतलब है कि हर छात्र के पास अपनी कॉपी और किताबें होती हैं | लेकिन अब यह जगह तकनीक आधारित सिस्टमों ने लेने का विचार बनाया है | बाजार पहले पिछले दशक में सामने आया, नेटबुक्स इसकी पहल माना जाता है | हालांकि, बाद में इसमें भी टैबलेट वैकल्पिक रूप से सामने आया और उसके बाद अन्य कई उपकरण भी |

लेकिन अंततः सबका ध्यान गया Chromebooks पर को एक हल्के ऑपरेटिंग सिस्टम और सस्ते विकल्प के रूप में उभरे और अन्य उपकरणों की तुलना में कहीं अधिक प्रासंगिक दिखाई पड़े | इसकी वजह से Google के Chromebooks की बिक्री में तेजी आई | इस बीच, Microsoft अपनी पुनरुत्थान की उम्मीदों से निराश था क्योंकि कंपनी की Surface Books बाज़ार में अपना उम्मीद्तन स्थान बना पाने में विफ़ल साबित हुईं थी |

लेकिन यह कंपनी पुनः वापसी कर सकती है | अगले महीने कंपनी एक बड़े समारोह की मेजबानी करगी, जो शिक्षा पर अपना ध्यान केंद्रित करेगा | और यह बहुत स्पष्ट है कि यह एक नए डिवाइस का अनावरण भी करे, जो  Chromebooks जैसी दिखती हो | साथ ही यह उपकरण सस्ते, उपयोगी, नियंत्रणीय और सॉफ़्टवेयर में श्रेष्ठ साबित हो सकतें हैं |

और वैसे भी सॉफ्टवेयर एक ऐसा आयाम है जहां Microsoft के पास Google पर बढ़त हो सकती है | भले ही Google के पास अपना G-Suite हो, लेकिन Microsoft के Office जैसा पेशेवर विकल्प आज भी मौजूद नहीं है |

हम यह सुनिश्चित तभी कर पायेंगें जब Microsoft अगले महीने अपने कार्यक्रम का आयोजन करेगा | तब तक के लिए आप हमारे साथ जुड़े रहें, ताकि हम आप तक इससे जुड़ी हर एक अपडेट पहुँचा सकें |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन