एप्पल खबर गैजेट्स मेक इन इंडिया

Apple अगले महीनें तक भारत में शुरू कर सकता है ‘स्मार्टफोन निर्माण’

जब Apple ने भारत में अपने स्मार्टफोन के निर्माण में रुचि दिखाई थी, तब इस योजना को अत्यधिक सराहा जा रहा था | लेकिन अब यह सिर्फ़ एक योजना नहीं रही | पिछले कई रिपोर्टों के बाद अब ऐसा माना जा रहा है कि कंपनी अगले महीने से भारत में स्मार्टफोन के निर्माण की प्रक्रिया शुरू कर सकती है |

Economic Times की रिपोर्ट के मुताबिक, अगले महीने से भारत में Apple “ट्रायल असेंबली” की शुरुआत कर सकती है | इससे पहले, कैलिफोर्निया स्थित कंपनी ने भारत में विनिर्माण फोन शुरू करने के लिए कुछ प्रोत्साहन मांगे थे | हालांकि, यह अपने अनुरोधों के परिणाम की परवाह किए बिना, यह एकत्रीकरण प्रक्रिया शुरू कर देगा, ऐसा दावा रिपोर्ट में किया गया है |

संयोजन कार्य को ताइवान के मूल डिजाइन निर्माता Wistron द्वारा नियंत्रित किया जाएगा, जिसके साथ Apple का एक अनुबंध भी है | बेंगलूरु में ही यह विनिर्माण का कार्य शुरू होगा |

Wistron पश्चिम बेंगलुरु के पीन्या में स्थित अपने मौजूदा विनिर्माण केंद्र में iPhones के निर्माण प्रकिया का आगाज़ करेगा | कंपनी को बाद में दूसरे स्थान पर घटक निर्माण के लिए ब्रांड नई सुविधाएं स्थापित करके दे सकता है |

उन अधिकारियों में से एक, जो कंपनी के अनुरोधों और प्रशासनिक विकास से परिचित हैं, ने कहा,

“ हम यह देखने के लिए काम कर रहे हैं कि (कंपनी) बेंगलुरु को अपना पूर्ण घटक बनाने के लिए तैयार है या नहीं, और क्या यहां से निर्यात शुरू किया जा सकता है ? हम घरेलू बाजार के लिए Apple के iPhones बनाने को लेकर ज्यादा चिंतित नहीं हैं, जो वैसे भी होगा ही ”

पिछले कुछ महीनों से, प्रौद्योगिकी क्षेत्र की प्रमुख कंपनी Apple भारत सरकार की विदेशी निवेश नीतियों से ऊपर, कुछ अतिरिक्त प्रोत्साहन पाने के लिए केंद्र सरकार के साथ कड़ी मेहनत कर रही है | Apple द्वारा अनुरोधित प्रोत्साहनों में iPhone के निर्माण में उपयोग किए जाने वाले घटकों के आयात पर काउंटरवैलिंग ड्यूटी (सीवीडी) के छूट शामिल हैं |

कंपनी का यह कदम का वक़्त आया है, जब वह दुनिया के सबसे तेजी से बढ़ते बड़े मोबाइल बाजार में अपनी हिस्सेदारी को बढ़ाने की कोशिश कर रही है | क्योंकि यहाँ Apple के iPhones की तुलना में सस्ते हैंडसेट बाजार पर हावी हैं | Apple के स्मार्टफोन की बिक्री दर में वृद्धि, एशिया के अन्य बड़े बाजारों में धीमा हो रही है, जैसे की चीन |

Counterpoint केमुताबिक, Apple ने पिछले साल भारत में 2.5 मिलियन iPhones बेचे थे, जिसके साथ दिसंबर तिमाही में यह तीसरे स्थान पर आ गया था | हालाँकि चौथी तिमाही में, यह भारत के स्मार्टफोन बाजार में 10 वें स्थान पर था, लेकिन फिर भी प्रीमियम खंड में 62 फीसदी बाजार हिस्सेदारी समेटे हुए था |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन