इंटरनेट खबर

Facebook EU के नियंत्रक ने कहा कि वे जल्द ही निकालेंगें WhatsApp की डेटा शेयरिंग का उपाय

जब Facebook ने WhatsApp को अधिग्रहित किया था तो इस चीज़ पर प्रश्न उठे थे कि वे इस अधिग्रहण को अपने लिये कैसे उपयोग करेंगे| सीधे रेवेन्यू जुटाने की संभावना कम थी| WhatsApp ने पहले ही उपभोक्ताओं को निश्चिंत कर दिया था कि वे अपने मंच को प्रचार मुक्त रखेंगे और उस समय में जब IM ऐपों की भरमार है, Facebook उपभोक्ताओं को WhatsApp को लिये भुगतान करने के लिये कह कर उसके प्रभुत्व को खतरा नहीं पहुंचायेंगे, जब लोग इसे अपने जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा समझने लगे हैं|

तभी, उन्हें डेटा शेयरिंग का विचार सूझा| WhatsApp उपभोक्ताओं के पास एक अपडेट पहुंच गयी, जिससे उनका सभी कॉन्टेक्ट डेटा Facebook, के साथ बंटने लगे| 1 बिलियन से भी अधिक उपभोक्ताओं का डेटा Facebook के लिये बहुत ही सहायक होता| परंतु Facebook के डेटाशेयरिंग इरादों पर दुनिया भर के नियंत्रकों ने निजिता से संबंधित प्रश्नों के चलते रोक लगा दी|

ये बात कुछ यमय के लिये दब गयी| परंतु Facebook के युरोपी नियंत्रक ने कहा है कि वे मंच से चर्चा कर रहे हैं, जिससे कि वे WhatsApp से प्राप्त डेटा का उपयोग कर सकें|

मुद्दे पर बात करते हुए आयरलैंड की डेटा सुरक्षा कमिशनर और Facebook, की निजिता समस्याओं से संबंधित प्रमुख युरोपी नियंत्रक हेलेन डिक्सन ने कहा:

मेरा मानना है कि हम दोनों ही पार्टियों – Facebook और WhatsApp – से सहमत हैं कि उपभोक्ताओं को उपलब्ध करायी गयी जानकारी और भी स्पष्ट, पारदर्शी और साथ ही, और भी आसान शब्दों में दी जा सकती थी| हम इयक उपाय निकालने कि ओर काम कर रहे हैं|

अगर आप अभी भी सोच में पड़े हैं तो आपको बता दें कि डिक्सन ऐसा कह रही हैं क्योंकि कंपनी का युरोपी मुख्यालय डबलिन में स्थित है| ये निर्णय बहुत ही महत्वपूर्ण है, क्योंकि ये दुनिया भर में डेटाशेयरिंग प्रक्रियाओं को प्रभावित करेगा| ये देखना रोचक होगा कि ऐसा कौन सा साझा है, जो Facebook की ज़रूरत भी पूरी कर दे और नियंत्रकों की निजिता की मांग को भी|

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन