E-Commerce ENTERPRISE News Start-Ups

11.6 बिलियन डॉलर के मूल्यांकन पर, Flipkart ने Microsoft, Tencent और eBay से हासिल किया 1.4 बिलियन डॉलर का भारी निवेश

अंततः, सभी अफवाहों और अटकलों को विराम देते हुए, Flipkart ने इन अफ़वाहों की पुष्टि कर दी | जी हाँ ! अब यह घोषित कर दिया गया है कि यह स्थानीय ई-कॉमर्स दिग्गज़, अंततः अपने खजाने में 1.4 बिलियन डॉलर का एक बड़ा निवेश जोड़ रहा है | यह निवेश इसने 11.6 बिलियन डॉलर के मूल्यांकन आधार के साथ Tencent, eBay, और Microsoft जैसी कंपनियों से प्राप्त हो रहा है |

निवेश अर्जन के इस मौजूदा दौर में Flipkart के पूर्व समर्थकों जैसे Tiger Global Management, Naspers Group, Accel Partners और DST Global की भी भागीदारी देखी गई | यह इस ई-कॉमर्स इकाई के लिए अब तक का सबसे बड़ा निवेश दौर है, जिसे इसने जुलाई 2015 में अपने पिछले निवेश दौर से, लगभग दो साल बाद हासिल किया है | Flipkart पिछले 9 सालों में अपने परिचालन के दौरान निवेश के तौर पर अब तक कुल 4.65 बिलियन डॉलर हासिल कर चुकी है |

निवेश पर टिप्पणी करते हुए, Flipkart के सह-संस्थापक सचिन और बिन्नी बंसल ने कहा,

“ हमें खुशी है कि Tencent, eBay, और Microsoft जैसे सभी नवाचार पॉवरहाउसों ने हमारे साथ भारत यात्रा पर भागीदारी करने का विकल्प चुना है, हमनें अग्रणी उद्योगों के अपने लंबे इतिहास के आधार पर इन सहयोगियों को चुना है, और साथ ही अद्वितीय विशेषज्ञता और अंतर्दृष्टि को भी अब Flipkart से जोड़ा जा सकेगा, यह सौदा प्रौद्योगिकी को आधार बनाकर भारत के वाणिज्य क्षेत्र में परिवर्तन को तेज़ करने के हमारे संकल्प की पुष्टि करता है ”

स्थानीय ई-कॉमर्स दिग्गज़ ने इस निवेश सत्र में अपना मूल्यांकन 11.6 बिलियन डॉलर का रखा है, जो पिछले दौर में 15 बिलियन डॉलर के इनके उच्चतम मूल्यांकन के मुकाबले काफी कम है | लेकिन, यह मूल्यांकन एक ऐसी कंपनी के लिए काफी अच्छा है, जो निवेश फर्मों के एक समूह द्वारा अनेकों मूल्यांकन प्रतिबिम्बों से होकर गुजरी हो | इस दौरान इसके प्रबंधन स्तर में कई परिवर्तन भी शामिल रहे, जिनमें से सबसे अहम और सबसे हाल ही में हुआ एक परिवर्तन रहा, जिसमें Tiger Global के कल्याण कृष्णमूर्ति को सीईओ के रूप में नियुक्त किया गया |

हालांकि, इस निवेश सत्र में और भी कई चीज़ें ख़ास रहीं है | ग्लोबल ई-कॉमर्स दिग्गज़ eBay ने भारत की अग्रणी ई-कॉमर्स कंपनी Flipkart में पूंजी (जो अल्पसंख्यक हिस्सेदारी के लिए नकद में) में निवेश ही नहीं किया है, बल्कि इसने “एक रणनीतिक वाणिज्यिक समझौते” पर भी हामी भरी है |

जी हाँ ! इस घोषणा के साथ अब व्यापक रूप से भारतीय भी वैश्विक स्तर पर eBay के उत्पाद मँगवा सकेंगें और साथ ही विदेशियों को भी Flipkart के जरिये भारतीय उत्पादों तक पहुँचने का एक जरिया प्राप्त हो सकेगा |

दरसल ! एक बड़ी आश्चर्यजनक अफ़वाह की पुष्टि करते हुए घोषणा की गई है की Flipkart अब eBay के भारत संचालन इकाई पर नियंत्रण कर रहा है, लेकिन ई-कॉमर्स वेबसाइट (eBay.in) स्वतंत्र रूप से काम करना जारी रखेगा |

eBay Inc के अध्यक्ष और सीईओ, Devin Wenig ने अपनी साझेदारी पर बोलते हुए कहा,

“ एक अग्रणी वैश्विक ई-कॉमर्स कंपनी के रूप में, eBay की स्थिति का संयोजन और Flipkart के बाजार का कद हमें, भारत में दोनों कंपनियों के लिए अवसर बढ़ाने और अधिकतम विकास करने की अनुमति देगा ”

वैश्विक तकनीकी दिग्गजों के विश्वास से पता चलता है कि कंपनी अब परिपक्व हो गई है और अब इसने Amazon और Alibaba जैसे अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों के आगमन के खिलाफ लड़ने में कुछ तरक्की की है | साथ ही इनसे टक्कर लेने और ग्राहक अनुभवों में विकास के चलते, Flipkart अब अपने मंच में आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस जैसी तकनीक को एकीकृत करने पर विचार कर रही है |

Microsoft का निवेशकों के इस समूह में शामिल होना कोई इतनी बड़ी आश्चर्य की बात नहीं है, क्योंकि इसके संकेत हमनें पहले से ही उपलब्ध कराये थे | दोनों कंपनियों ने हाल ही में Azure को बाद के अनन्य सार्वजनिक क्लाउड प्लेटफॉर्म को अपनाने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए थे और सीईओ Satya Nadella ने खुद ही इसकी घोषणा की थी  | इससे समझौते के महत्व को परिभाषित किया जाता है, जो जिसने अब एक साझेदारी का रूप ले लिया है | इन सब के बीच इस ई-कॉमर्स दिग्गज को आगामी दिनों में देश में सबसे बड़े निवेशकों में से एक, SoftBank से भी अतिरिक्त निवेश अर्जित कर पाने की उम्मीद है |

अपने आधिकारिक ब्लॉग पोस्ट में, सह-संस्थापक ने आगे कहा,

“ यह Flipkart और भारत के लिए एक महत्वपूर्ण सौदा है क्योंकि यह हमारी तकनीकी कौशल का समर्थन करता है, और हमारे अभिनव मानसिकता और संभावित पारंपरिक बाजारों को विकास का अवसर प्रदान करता है, यह इस बात की एक सशक्त स्वीकृति भी है कि देशभर में तकनीकी पारिस्थितिकी तंत्र वास्तव में संपन्न है और पूरे भारत में लोगों के दैनिक जीवन में वास्तविक समस्याओं को हल करने में सफल रहा है ”

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन