खबर

YouTube 10,000 से कम लाइक वाले चैनलों के लिये बंद कर रहा है विज्ञापन

ये लीजिये! हमने अनुमान लगाया था कि नफ़रत भरे भाषणों और अनचाहे कंटेंट के साथ प्रचार डालने की रिपोर्ट को लेकर YouTube कोई कड़ा कदम उठायेगी| इन रिपोर्टों के कारण कई कंपनियों को कुछ समय के लिये अपने प्रचार दिखाना बंद कर दे रहीं थीं और यहां तक कि कंपनी के साथ अपना कॉन्ट्रेक्ट भी रद्द कर दे रही थीं| YouTube अब इसके विरोध में विडियो ऐड की संख्या को सीमित कर रही है|

जी हां, कंपमी ने कहै है कि वे उन चैनलों पर ऐड नहीं दिखायेंगे जो लाइकों की एक निर्धारित संख्या तक न पहुंचें| और स्पष्टता से बतायें तो YouTube 10,000 लाइकों तक न पहुंचने वाले चैनलों को प्रचार दिखाने की अनुमती नहीं देगी| Wall Street Journal से बात करते हुए कंपनी ने बताया कि वे कंटेंट चोरी करने वाले चैनलों पर रोक लगाने के लिये ये टूल पहले से ही बना रहे थे, वो भी नवंबर से|

प्रचार दिखाना किसी भी YouTube चैनल के लिये बहुत आसान हुआ करता था| आपको मात्र एक चैनल बना कर कुछ विडियो डालिये और YouTube को प्रचार चलाने का निर्देश दीजिये और हो गया| इस 10,000 की शर्त का मतलब है कि केवल उन्हीं विडियो पर प्रचार चलेंगे, जिन्हें कई लोगों ने देख लिया हो| क्योंकि उपभोक्ता अधिकतम बार किसी भी बुरे कंटेंट की जीनकारी दे देते हैं, तो इस शर्त से ये सुनिश्चित हो जाता है कि उन विडियो पर कोई भी प्रचार न चले|

इसकी सहायता से YouTube को अपने मंच पर दिखने वाले कंटेंट को रिव्यू करने में भी सहायता मिलेगी| कंपनी ने अपने मंच पर PepsiCo व Coca-Cola जैसी कंपनियों के साथ भी साझा किया है| इस नवीनतम अपडेट के साथ वे अधिक संख्या में विडियो को रिव्यू करेंगे और खराब विडियो को हटा सकेंगे| इससे वे अशलील विडियो को पबलिक होने से भी रोक सकेंगे|

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन