खबर भविष्यकाल

लोगों को स्वचलित कारें बनाना सिखाने के बाद, Udacity ने शुरू किया अपना टैक्सी व्यापार ‘Voyage’

स्वचालित कारें बनाना और डेटा ऐनालिसिस जैसी अडवांस तकनीकें सीखने के लिये Udacity एक बहुत ही उपयुक्त मंच रहा है| कंपनी के स्वचलित कार्यक्रम के अंतर्गात, उनके मुख्यालय में एक कार हौ, जो दुनिया के किसी भी कोने में बैठे उनके छात्रों द्वारा डाले गये कोड से चल सकती है| Udacity को अब अपनी काबिलियत पर इतना विश्वास हो गया है कि वे स्वतलित टैक्सियों का व्यापार खोल सकें|

‘Voyage’ नाम के इस व्यापार की अगुवाई, Udacity के वाइस प्रेज़िडेंट ऑलिवर कैमरन करेंगे| इय प्रयास की सबसे बड़ी बात है कि उन्हें इसका ढांचा शुरी से नहीं तैयार करना होगा| वे मात्र पहले से उपलब्ध वाहनों में स्वचालन तकनीक डालेंगे| ये स्वयं में एक बदलाव होगा| मतलब पहले से उपलब्ध टैक्सी में स्वचालन तकनीक डालना बहुत कठिन होगा| आप पहियों और ब्रेक को एक ऐसी चीज़ के इशारे पर चलने के लिये तौयार कर रहे हैं, जो वहां है ही नहीं|

परंतु Udacity का मानना है कि वे ऐसा कर सकते हैं, और वो भी, बड़े पैमाने पर| परंतु कुछ प्रोग्रामिंग एक्सपर्टों के साथ और कैब हेलिंग मंच बनाना भी मुश्किल नहीं होगा| इस चीज़ की एक और विशेष खासियत है कि इनका वॉइस कंट्रोल, जिसके उपयोग से यात्री अपनी सीट से सब कुछ नियंत्रित कर सकेंगे| तो Voyage पर आप अपने मन का संगीत लगाने से लेकर रास्ते में खाना लेने तक सब कुछ कर सकते हैं|

परंतु ये बहुत ही मुश्किल होने वाला है, क्योंकि भले ही Udacity के पास तकनीकी गुणवत्ता हो, परंतु वे कारों में अनुभवी नहीं हैं| साथ ही, आपको ये भी याद रखना होगा कि कंपनी को Uber जैसी कंपनियों से जूझना पड़ता है| साथ ही, Udacity के सी.ई.ओ. सिबैस्चिअन थ्रुन ने कहा कि क्योंकि वे इससे पहले Google के स्वचालन कार्यक्रम से जुड़े रह चुके हैं, तो वे इसमें हिस्सा नहीं ले रहे है| साथ ही, कंपनी छात्रों द्वारा अपलोड किये गये कोड भी इस्तेमाल नहीं करेगी|

कुछ भी हो, कंपनी ने अपने लिये तकनीकी एक्सपर्टीज़ बहुत एकत्रित कर ली है| साथ ही, उन्होंने अपने प्रति सभी का भरोसा भी बांध लिया है| अब ये देखने वाली बात होगी कि वे कैसे अपने शिक्षा के लाभकारी व्यापार से कैसे टैक्सी के उतने ही लाभकारी वियापार कि ओर प्रस्थान करते हैं|

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन