E-Commerce News

Flipkart नए निवेश सत्र में कर रहा है $1.2 – $1.5 बिलियन तक जुटाने का प्रयास

Flipkart पहले वैल्युएशन मार्कडाउन, मैनेजमेंट कि निकासी और निवेश में आ रही दिक्कतों के कारण चर्चा में थी, परंतु अब सब कुछ अच्छा होता दिखाई दे रहा है| कंपनी द्वारा निवेश सत्र में $1 बिल्यन का निवेश जुटाने के दो सप्ताहों के बाद ही, Flipkart अब एक और सत्र में $1.2 – $1.5 बिलियन का निवेश जुटाने की तेयारी कर रही है| भारतीय ई-कॉमर्स व्यापार में Amazon के विरुद्ध डटे रहने के लिये, ये कंपनी के लिये बहुत ही महत्वपूर्ण है|

कहा जा रहा है कि ये निवेश Tencent Holdings Ltd, Microsoft Corp. और eBay Inc. से जुटाया जायेगा| मुद्दे से अवगत लोगों का कहना है कि Flipkart का निनेश से पहले का वैल्युएशन इस सत्र के लिये $10 बिलियन होगा, जिसके अगले सप्ताह तक पूरे होने की संभावना है| सत्र पूरा होने पर, ये भारतीय स्टार्टप सिस्टम का सबसे बड़ा सत्र हो सकता है|

इसके अलावा, कंपनी जापान की SoftBank के साथ Snapdeal के अधिग्रहण या मर्जर की चर्चा कर रहे हैं, जो कि दूसरी भारतीय ई-कॉमर्स कंपनी है| साथ ही, संभव है कि कंपनी eBay भारत के ऑपरेशन भी खरीद ले, परंतु ये पूरा होने में अभी समय है|

$1.5 बिलियन का भारी निवेश प्राप्त करने के बाद भी कंपनी ये सत्र खुला रख सकती है, अगर अन्य किसी कंपनी ने इसमें निवेश करने की सोची तो| मुद्दे से अवगत एक व्यक्ति ने बताया कि अगर Flipkart Snapdeal को अधिग्रहित कर लेती है, तो SoftBank भी उनमें और निवेश करेंगे|

अगर Flipkart Snapdeal को अधिग्रहित कर लेती है, तो कंपनी की सबसे बड़ी शेयरहोल्डर Tiger Global Management, कंपनी में अपना हिस्सा SoftBank को बेच देगी| साथ ही, पिछले आठ वर्षों में Tiger Global ने Flipkart में 30-33% स्टेक के बदले करीब $1 बिलियन का निवेश किया है|

अब देखने वाली बात है कि कंपनी इस बार इस निवेश को कैसे संभालती है| इससे पहले भारत की ई-कॉमर्स कंपनियां निवेश का उपयोग भारी छूटें देने में करते थे, जिससे कंपनी के बर्न दर भी अधिक होते थे|

Flipkart की सबसे बड़ी प्रतिद्वंदी US की Amazon है, जो कि भारत में विस्तार हेतु ऑपरेशन में बहुत पैसे लगा रहे हैं| कंपनी ने विस्तार हेतु अपने भारतीय अंग में करीब $5 बिलियन का निवेश करने की तैयारी कर रही है|

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन