खबर स्टार्टअप्स

प्रायोजक अनुबंध का उल्लंघन करने पर, Snapdeal के खिलाफ कोर्ट ने दिया FIR का आदेश

हाल ही में, Snapdeal ने अपनी अधिग्रहण वार्ता और बोर्डरूम विवाद के चलतें काफ़ी सुर्खियां बटोर रहा है | लेकिन आज एक अप्रत्याशित रूप से Snapdeal के खिलाफ़ प्रमुख व्यापारियों ने FIR दर्ज करवाई है |

शिकायत के संबंध में, आठवें अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट, बैंगलोर ने अब Snapdeal की मूल कंपनी Jasper InfoTech Pvt. Ltd. को समन किया है और इसके साथ ही, सीईओ और संस्थापक, कुणाल बहल सहित इसके ग्यारह अधिकारियों को भी समन का नोटिस भेजा है |

Dream Merchants ने इस ई-कॉमर्स दिग्गज पर इसके प्रायोजन अनुबंध का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है | बैंगलोर स्थित इवेंट मैनेजमेंट फर्म, जो बैंगलोर फैशन वीक चलाती है, उनके Snapdeal ने तीन साल के अनुबंध पर हस्ताक्षर किए थे | बाद में इन पर यह आरोप लगाया गया कि कंपनी के अधिकारियों ने भुगतान समय (जनवरी 2016 में 25 लाख रुपये) पर नहीं किया, जैसा की अनुबंध के तहत वादा किया था |

इससे आयोजकों को धन की कमी के कारण छोड़ना पड़ा और कंपनी को खुद ही समारोह का प्रबंधन करना पड़ा | जबकि 60-दिवसीय अनुबंध करार में Snapdeal ने इस आयोजन (फरवरी 2016 में होने वाली है) से 15 दिन पहले ही समर्थन वापस लेकर अनुबंध का उल्लंघन किया |

चूंकि इन्होने 31 मार्च तक बकाया को नजरअंदाज कर दिया, इसलिए Dream Merchants ने शहर की अदालत का दरवाजा खटखटाया | अब अदालत ने सभी पूर्ववर्ती दलों को इस मामले के निपटारे के लिए 27 मई से पहले अदालत में पेश होने के लिए कहा है |

ET के साथ वार्ता में, Dream Merchants के संस्थापक, फिरोज खान ने कहा,

“ कोई कारण नहीं प्रदान किया गया था, धन की कमी के बावजूद हमने अपने कार्यक्रम को आगे बढ़ाया, Snapdeal ने भेजे गए इनवॉइस या नोटिस का सम्मान नहीं किया, साथ ही Snapdeal में विपणन के तत्कालीन उपाध्यक्ष, अमित महेश्वरी, जिन्होंने सहयोग शुरू किया था, ने हमारी कॉल लेने से भी इनकार कर दिया ”

आईपीसी की धारा 420 (धोखाधड़ी और बेईमानी से संपत्ति का वितरण) के तहत Snapdeal के खिलाफ जारी किए गए समन के अनुसार, इस मामले में शामिल व्यक्तियों को सात साल तक जेल की सजा दी जा सकती है |

वर्तमान में Snapdeal वैसे भी फंडिंग की कमी का सामना कर रही है | सॉफ्टबैंक ने कम मूल्यांकन में कंपनी में नए फंड को लगाने का प्रयास किया है, लेकिन शुरुआती निवेशकों ने इससे इनकार किया है | लेकिन अब यह जापानी दिग्गज़ कंपनी Snapdeal को Flipkart को बेचने की कोशिश कर रहा है और साथ ही FreeCharge की बिक्री की भी बात चल रही है |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन