खबर डिजिटल इंडिया मोबाइल एप्प्स

इस साल तक WhatsApp लॉन्च कर सकता है ‘UPI आधारित भुगतान सेवा’: रिपोर्ट

व्यापक रूप से लोकप्रिय मैसेजिंग एप्लिकेशन, WhatsApp ने भी अब भारतीय सरकार की अगुआई वाली मुद्रा डिजिटलीकरण मुहीम में भागीदारी करने पर सहमति जताई है | कंपनी को आने वाले छह महीनों में भारत में अपने मैसेजिंग प्लेटफॉर्म पर पीयर-टू-पीयर (पी2पी) पेमेंट सर्विस लॉन्च करने की उम्मीद है | इस सेवा को संभावनात्मक रूप से यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) द्वारा संचालित किया जा सकता है |

WhatsApp इस मामले में Truecaller का अनुसरण करता नज़र आ रहा है | दरसल, Truecaller ने हाल ही में आईसीआईसीआई बैंक के साथ डायलर ऐप में यूपीआई-आधारित भुगतान प्रणाली को एकीकृत करने के लिए भागीदारी की है | यह आपके लिए भले ही आश्चर्यचकित करने वाली चीज़ हो, लेकिन UPI निरंतर आपके भुगतान को ऑनलाइन पूरा करने की दिशा में आदर्श बनता जा रहा है | यहां तक ​​कि Samsung ने भी इस तथ्य को स्वीकार कर लिया है और UPI भुगतानों के समर्थन में अपनी Samsung Pay ऐप लाई है, जो हाल ही में भारत में भी लॉन्च की गई है |

रिपोर्ट के मुताबिक, Facebook की स्वामित्व वाली यह मैसेजिंग कंपनी, UPI को अपने एप्लिकेशन में एकीकृत करने की योजना बना रही है | इससे देश के 200 मिलियन मासिक सक्रिय उपयोगकर्ता, चैट विंडो से पैसे भेजने के लिए सक्षम हो जायेंगें | दरसल यह सब निष्कर्ष वर्तमान में WhatsApp के कैरियर पेज पर पोस्ट की गई एक रोमांचक नौकरी के आधार पर तैयार किए गया है |

कंपनी डिजिटल लेनदेन का एक ऐसा जानकार व्यक्ति तलाश कर रही है, जिसकी UPI, BHIM, और Aadhaar भुगतान में विशेषज्ञता हो | उस व्यक्ति को एक टीम का नेतृत्व करना होगा चाहिए, ग्राहक सहायता पर काम करना होगा, इसके साथ ही उसमें भारत की विशाल संस्कृति का ज्ञान और भारतीय बाजार की वित्तीय सेवाओं की प्रवीणता भी होनी चाहिए |

यद्यपि हम अभी इन तथ्यों की पुष्टि नहीं कर सकतें हैं, लेकिन यह दो महीने पहले भारत की अपनी यात्रा के दौरान WhatsApp के सह-संस्थापक, ब्रायन एक्टन द्वारा दिए गए संकेतों के अनुरूप नज़र आता है | उन्होंने पूरे देश में मैसेजिंग सेवा के सर्वव्यापार को स्वीकार किया और कहा कि कंपनी भविष्य में डिजिटल कॉमर्स के लिए भारत के दृष्टिकोण में निवेश करना जारी रखेगी | उन्होंने कहा,

“ हम WhatsApp सुविधा को सरल, विश्वसनीय और सुरक्षित बनाने के लिए तैयार करते हैं, और यह दृष्टि डिजिटल भारत के लिए भी अनुरूप है ”

विमुद्रीकरण के बाद से, न केवल निजी खिलाड़ियों बल्कि केंद्र सरकार भी लेनदेन में पारदर्शिता को बढ़ावा देने में काफी सक्रिय नज़र आ रही है | इसी के चलते, सरकार ने आगामी Aadhaar Pay ऐप, UPI-आधारित BHIM ऐप और Bharat QR जैसे कई कदम उठाए हैं |

वहीं 14 अप्रैल को लॉन्च होने जा रहे, Aadhaar Pay का एक बड़ा लाभ यह है कि आप स्मार्टफोन के बिना इस सेवा का उपयोग कर सकते हैं | यह संभव है क्योंकि सेवा को ऐप की आवश्यकता नहीं है व्यापारी या एक व्यक्ति, जो पैसे चाहते हैं, बस उसे हार्डवेयर की व्यवस्था करनी होगी, और इसमें भुगतानकर्ता को कोई भी आवश्यकता नहीं होती है |

भारत फिलहाल एक ऐसे चरण पर है जहां वह इलेक्ट्रॉनिक भुगतान के लिए रास्ता बना रहा है और यह इस दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम साबित होगा | हालांकि, यह भी कहा जाता है कि कार्ड भुगतान की तुलना में, Aadhaar Pay सस्ता होगा |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन