खबर

Twitter, ने बदली अपनी रूप रेखा

ये जग ज़ाहिर बात है कि Twitter के मंच पर शोषण के बहुत से किस्से सुनना आम बात है और कंपनी ने इयपर रोक लगैने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। उन्होंने कई उपभोक्ताओं को मंच का उपयोग करने बैन भी किया, परंतु ये परेशानी चलती ही जा रही है।

आज उन्होंने इस ओर एक और कदम उठाया है, जो शायद बहुत लोगों को पसंद न आये। आपको याद है, उमके मंच पर पहले एक अंडाकार प्रोफ़ाइल तस्वीर होती थी। उस तस्वीर को हटा कर उन्होंने एक सर और कंधों वाली प्रोफ़ाइल तस्वीर ला दी है, जो कि एक बिना लिंग वाली परछांई जैसी दिखती है।

पिछले सात वर्षों में जिसने भी Twitter पर आगमन किया, उसके पास यही अंडे नुमा प्रोफ़ाइल तस्वीर ही आती थी। इसे उस चीज़ से जोड़ा गया था कि कैसे एक चिड़िया किया अंडे से निकलती है और अपनी चहचहाट दुनिया तक पहुंचती है। तभी से ये Twitter के ब्रांड का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है। जो व्यक्ति Twitter पर नहीं भी है, वो इस तस्वीर को Twitter से ही जोड़ते थे।

Twitter ने इसके पीछे कई कारण बताये थे। उन्होंने कहा कि लोगों को ये अंडाकार प्रोफ़ाइल तस्वीर इतनी पसंद आती थी कि वे अपनी असल तस्वीर नहीं लगाते थे। इसी लिये, कोई समाऩ् परछांई लगाने से संभवतः लोग अपनी तस्वीर लगाना पसंद करें। ये कारण सच ही समझ आता है।

हमें समझ ये नहीं आता कि वे इससे शोषण को कैसे रोकेंगे। उनका मानना है कि अक्सर लोग किसी भी व्यक्ति का शोषण करने के लिये बनायी गयी प्रोफ़ाइल पर कोई तस्वीर नहीं लगाते हैं, जिसके कारण “अंडाकार छवी को नकारात्मक बर्ताव के साथ जोड़ा जाता है”।

कंपनी को ये समझ नहीं आ रहा है कि जो ग़लत कमेंट अंडाकार प्रोफ़ाइल तस्वीर को साथ आते थे, अब वो मनुष्य रूपी परछांई वाली प्रोफ़ाइल से भी आयेंगे। और गाली तो गाली ही होती है, चारे वो पर्सनलाइज़ करी गयी प्रोफ़ाइल से आये या नहीं। इससे भले ही कुछ दिन के लिये ये बर्ताव रुक जाये, परंतु ये इसका अंत नहीं है।

और साथ ही, Twitter ने एक और चीज़ खो दी जो उनके ब्रांड के साथ जोड़ा थी।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन