ई-कॉमर्स खबर स्टार्टअप्स

Snapdeal कर रहा है 2019 की दूसरी छमाही में अपने IPO को लॉन्च करने की तैयारी: रिपोर्ट

ऐसे में जब Snapdeal अपने कारोबार को बचाए रखने के लिए संघर्ष करती नज़र आ रही है, यह खबर मिली है कि कंपनी अब प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश (IPO) पर अपनी निगाहने डाल रही है | रिपोर्ट के मुताबिक, यह ई-कॉमर्स कंपनी 2019 की दूसरी छमाही में अपने IPO को लॉन्च करने का लक्ष्य बना रही है |

निश्चित तौर पर यह ख़बर आश्चर्यचकित करने वाली है क्योंकि हाल ही में अन्य रिपोर्टों के अनुसार, Snapdeal ख़ुद को बेचने के विकल्प तलाशती नज़र आ रही थी |

IPO योजना को लेकर पता लगने वाले तथ्यों में इसका अस्थाई समय एकमात्र चीज़ नहीं है, बल्कि रिपोर्ट यह भी बताती है कि नई दिल्ली स्थित यह कंपनी SBI Caps और Kotak Mahindra Capital समेत आईपीओ के लिए पांच मर्चेंट बैंकरों के साथ बातचीत कर रही है |

एक अन्य रिपोर्ट के मुताबिक, जापानी दिग्गज़ SoftBank  (जो कंपनी में बहुसंख्य हिस्सेदारी रखती है) ने शेयर बिक्री के लिए विशेष सलाहकार के तौर पर स्विस निवेश बैंकिंग प्रमुख, Credit Suisse को भी नियुक्त किया है |

एक सूत्र ने इस बाते में जानकारी देते हुए कहा,

“ IPO प्रक्रिया शुरू कर दी गई है और बाजार की भावना के आधार पर 2019 की दूसरे छमाही में यह पूर्ण हो सकती है, प्रबंधन ने SBI Caps और Kotak Mahindra Capital समेत पांच आई-बैंकरों पर भी ध्यान केंद्रित किया है ”

हालांकि कंपनी लगभग पांच कंपनियों के साथ बातचीत कर रही है, लेकिन यह केवल एक ही लीड-बैंकर कको शामिल करेगी जो SBI Caps और Kotak Mahindra Capital में से कोई एक हो सकता है | इसके अलावा, यह प्रस्तावित शेयर बिक्री योजना पर सलाह देने के लिए शीर्ष कानून फर्म, Amarchand Mangaldas, AZB & Partners और Khaitan & Co से भी संपर्क किया है |

Snapdeal के सह संस्थापक और सीईओ कुणाल बहल द्वारा IPO के लिए तैयार होने के लिए अपने कर्मचारियों को पत्र लिखने के बाद ही यह बात सामने आई है |

रिपोर्ट के मुताबिक, Snapdeal जिसने Amazon और Flipkart से बढ़त हासिल करने के लिए काफी पूंजी खर्च की है, उसके पास अब केवल एक साल के लिए पर्याप्त नकदी है | कंपनी लंबे समय से नए फंड जुटाने के लिए संघर्ष कर रही है | Snapdeal ने कथित तौर पर नकदी के संरक्षण के लिए अपनी मासिक नकदी जब्त की है, जिसमें 80 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है, जो कुल मिलाकर $ 4-5 मिलियन प्रति महीना है, जो पहले प्रति माह 20-25 मिलियन डॉलर रहा था |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन