INTERNET News Start-Ups

Reliance Jio के अनुसार अब तक ’50 मिलियन’ लोगों ने चुना कंपनी का ‘Prime Offer’

करीब एक महीने पहले ही Jio ने अपने 100 मिलियन ग्राहकों के लिए अपनी भुगतान सेवा ऑफ़र्स के आगाज़ संबंधी योजना की घोषणा की थी | मुफ्त योजनाओं के माध्यम से ग्राहकों को लॉक करने के लिए, इकाई ने एक ‘Prime Offer’ जारी किया, जिसमें मौजूदा उपयोगकर्ताओं और नए लोगों को 31 मार्च तक पंजीकरण करने के लिए कहा गया | इसके तहत आप 99 रूपये की वार्षिक सदस्यता ग्रहण कर सकतें हैं | हालाँकि इसके साथ ही इस ऑफर में ₹303 का मासिक शुल्क भी है है, जिससे ग्राहक 31 मार्च. 2018 तक 12 महीनें की और मुफ़्त सेवाओं का आनंद ले सकतें हैं |

वहीं आज Reliance Jio Infocomm ने पुष्टि की है कि कम से कम 50 मिलियन उपभोक्ताओं (जो कुल का आधा हिस्सा है) ने एक और साल के लिए प्राइम सदस्य बनने का चुनाव किया है | और यह तो स्पष्ट है कि जिन्होंने भी 99 रूपये का भुगतान कर प्राइम सदस्यता ग्रहण की है वे लोग तो कम से कम ₹303 के मासिक शुल्क सेवा को चुनेंगे |

यह आंकड़ा कंपनी के एक कार्यकारी द्वारा ET को बताया गया | उन्होंने कहा,

“ ‘Jio Prime सदस्यता योजना’ को Jio ग्राहकों से उत्साहपूर्ण प्रतिक्रिया मिली है, Reliance Jio का दावा है कि आधे उपयोगकर्ताअब सशुल्क ग्राहक बन गयें हैं, और इसके साथ ही हमें यह याद रखना चाहिए कि लाखों ग्राहक हर दिन इस योजना में शामिल हो रहे हैं, जो इन आकर्षक प्रस्तावों में उनकी रुचि को दर्शाता है ”

इस विशाल आँकड़े में विश्वास कर पाना शायद ही आपके लिए मुश्किल हो | हालाँकि इस बीच यह तो तय है कि Reliance Jio निश्चित तौर पर देश की इंटरनेट उन्मादी आबादी को यह विश्वास करना चाहेगी कि उनका मौजूदा उपयोगकर्ता आधार, नए और मोहक ‘Prime Offer’ के लिए साइन अप कर रहा है |

वहीं इंटरनेट में मौजूद कई अन्य रिपोर्टों से यह पता लगता है कि इस ऑफर के तहत रूपांतरण दर केवल 13 प्रतिशत ही है ,और केवल 16 मिलियन व्यक्तियों ने ही इसका चुनाव किया है | यह संख्या पिछले चार हफ्तों में Jio नेटवर्क में साइन अप करने वाले नए उपयोगकर्ताओं की तुलना में भी कम है, जो कि अनुमानित तौर पर 20 मिलियन बताई गई थी |

वहीं हम आपको याद दिलाना चाहेंगें कि डाटा और वॉयस सेवाओं को जारी रखने के लिए आपके पास केवल कल तक ‘Prime Offer’ के लिए साइन-अप करने तक का वक़्त है |

खैर ! कल के बाद से भारतीय टेलीकॉम क्षेत्र में नए समीकरणों का जन्म हो सकता है | दरसल अपनी मुफ़्त सेवाओं के चलते Jio कई पूर्व दिग्गज़ कंपनियों जैस Airtel, BSNL इत्यादि के लिए सर दर्द बन गया था | इस बीच हम आपको बता दें की इन सेवाओं ने कई नए आयामों को भी जन्म दिया, जिसमें Vodafone India और Idea के बीच होने वाली साझेदारी भी शामिल है |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन