खबर स्टार्टअप्स

Paytm कर्मचारियों ने, मूल कंपनी One97 में अपने 100 करोड़ रुपये से अधिक के शेयर बेचे

विमुद्रीकरण के बाद, नोएडा स्थित डिजिटल भुगतान मंच, Paytm ने उपयोगकर्ताओं या लेन-देन की संख्या में ही नहीं बल्कि अपने मूल्यांकन में भी बढ़ौतरी दर्ज़ की है | जिसके चलते इसके कर्मचारियों ने न सिर्फ़ बड़े पैमाने पर कमाई की, बल्कि इसके साथ ही उनके स्टॉक होल्डिंग्स के मूल्य में भी इजाफ़ा हुआ है | ETTech की रिपोर्ट के मुताबिक, ऐसे कर्मचारियों ने इस मौके पर भुनाया और 100 करोड़ रुपये से अधिक के शेयर बेचे |

लगभग 47 Paytm कर्मचारियों ने कई आंतरिक और बाह्य खरीदारों को Paytm की मूल कंपनी One97 Communications में अपने शेयर बेचे हैं | हालांकि, कंपनी ने खरीदारों के नाम को निर्दिष्ट करने से इनकार कर दिया है |

कंपनी के एक प्रतिनिधि ने कहा:

“ कंपनी में 500 से ज्यादा कर्मचारी हैं, जो मूल कंपनी में करीब 4% शेयर के हिस्सेदार हैं ”

ऐसा लगता है कि निवेशकों के साथ ही कंपनी के संस्थापक अब Paytm शेयरों का बड़ा हिस्सा हासिल करने की योजना बना रहें हैं, क्योंकि कंपनी ने सरकार की विमुद्रीकरण के फ़ैसले के बाद काफ़ी तेज़ गति को हासिल करने में कामयाब रही है | इसके अलावा, डिजिटल अर्थव्यवस्था और नकद-रहित लेनदेन के लिए सरकार के प्रयासों ने कंपनी को और भी बढ़ावा दिया है |

वर्तमान में कंपनी में अपने शेयरधारकों को मजबूत करने के लिए, यह सौदा Alibaba और उसके भुगतान सहयोगी Ant Financial को भी मदद करता है, जो One97 Communications में 45% की हिस्सेदारी रखतें हैं | Alibaba Group की इन दोनों इकाईयों में शुरुआती निवेशक SAIF Partners और संस्थापक विजय शेखर शर्मा के साथ, अब तक कुल 95% की हिस्सेदारी है |

हाल ही में, इस चीनी ई-कॉमर्स ने शुरुआती निवेशकों, Reliance Capital, Saama Capital, और SAP Ventures के शेयरों को खरीदने के लिए One97 Communications में 250 मिलियन डॉलर का निवेश किया है |

ऐसे उच्च मूल्यांकन पर कर्मचारियों द्वारा शेयर बिक्री की खबर उस वक्त आती है जब ज्यादातर भारतीय स्टार्टअप, अपने मूल्यांकन में गिरावट देख रहें हैं और निवेश दौर को हासिल करने के लिए दबाव में हैं | इसके विपरीत, Paytm कर्मचारियों द्वारा ESOPs की बिक्री, कंपनी में बढ़ते निवेशकों के हित का कारण बन रही है |

पिछले दो वर्षों में, Paytm ने अपने शेयरों को बेचने के इस विकल्प का इस्तेमाल करने वाले करीब 100 कर्मचारियों को देखा है, भले ही कंपनी निजी ही रही हो | पिछले साल कई Paytm अधिकारियों ने अपने ESOPs का हिस्सा पूर्व Google और Uber कार्यकारी, अमित सिंघल,WhatsApp के नीरज अरोड़ा और रुचि संघवी जैसे कंपनी के बाहरी बोर्ड सदस्यों को बेच दिया था |

नवंबर 2015 में, Flipkart ने अपने कर्मचारी ट्रस्ट फंड में 180 करोड़ और 240 करोड़ रुपये के बीच बेचा था, जो अपने कर्मचारियों के लिए तरलता प्रदान करने के लिए उच्च शुद्ध व्यक्तियों को बेचा गया था | ESOPs कंपनियों के लिए एक एवेन्यू है जो महत्वपूर्ण प्रतिभा को बनाए रखने के लिए जरूरी है, लेकिन इसके पूंजी प्राप्त करने के विकल्प बहुत सीमित हैं |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन