E-Commerce News

Flipkart को मिला $1 बिलियन का निवेश, और एक बिलियन जुटाने के कर रही प्रयास

भारत की अपनी ई-कॉमर्स कंपनी Flipkart ने आज ही $1 बिलियन का निवेश प्राप्त किया है। कंपनी इसी दाम का एक और निवेश प्राप्त करने की तैयारी कर रही है। इस निवेश का उपयोग, कंपनी बाज़ार में बने रहने और अपने प्रतिद्वंददियों से लड़ने के लिये करेंगे।

Flipkart ने ये नवीनतम सत्र $10 बिलियन के वैल्युएशन पर शुक्रवार को पूरा किया। जहां लगातार निवेश प्राप्त करने क़से कंपनियों की वैल्युएशन ऊपर चली जाती है, वहीं Flipkart 2015 में खुद को प्राप्त हुए अपने $15.5 बिलियन वैल्युएशन के कीर्तिमान से दूर है। उसके बाद भी, Microsoft Corp, eBay और चीन के Tencent ने इस सत्र में हिस्सा लिया है।

ये ख़बर मुद्दे से अवगत कुछ लोगों का हवाला देते हुए Bloomberg ने सबसे पहले दी। ये ख़बर अभी को देख कर महत्वपूर्ण है, क्योंकि Flipkart, Amazon जैसे प्रतिद्वंददियों से जूझ रही है। Amazon, इस समय भारतीय ऑपरेशन पर बहुत ध्यान दे रही है और यहां पर विस्तार भी करना चाहती है। इसी लिये, उन्होंने इसकी ओर अपने सभी रीसोर्स उपयोग करना भी शुरू कर दिया है, जि के कारण सभी स्थानीय कंपनियों में हाहाकार मच गया है।

Flipkart की परेशानियाँ बिल्कुल भी नई नहीं हैं। कंपनी को बहुत से चरणों पर परेशानी हो रही है। पिछले वर्ष ही, कंपनी के सबसे बड़े निवेशकों Tiger Global ने कल्याण कृष्णमूर्ती को फ़र्म का सी.ई.ओ. बनने का सुझाव दिया। इस समय, कंपनी के दोनों ही संस्थापक ऐसे स्थान पर हैं, जो कि Flipkart के दैनिक कार्यों पर इतना प्रभावी नहीं हैं।

बहरहाल, जहां अधिकतम स्टेकहोल्डर या तो ऑपरेशन वापस ले रहे हैं, वहीं Amazon विस्तार कर रही है। Amazon ने भारत में विस्तार हेतु आने वाले वर्षों में $5 बिलियन का निवेश करने का वादा किया है। वहीं PayTM भी (जिनके पीछे Alibaba हैं) अपने ऑपरेशनों पर दोगुणा अधिक महनत करने के लिये तैयार है।

ये देखने वाली बात होगी कि ये ई-कॉमर्स कंपनी दूसरी बार निवेश कैसे प्राप्त करती है। पारंपरिक रूप से भारत में ई-कॉमर्स कंपनियां उपभोक्ताओं को आकर्षित करने हेतु अपने फ़ंडों का उपयोग करती हैं। परंतु इन तरकीबों के चलते, निवेशक इन कंपनियों में पैसे लगाने से बचते हैं।

पिछले कुछ समय में कई बार मार्कडउन होने के बाद भी Flipkart के पास निवेशकों का कोई अकाल नहीं है। अब देखते हैं कि ये अब किस रणनीति को अपनाते हैं।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन