News

Facebook अपने महत्वकांक्षी हार्डवेयर प्रोजेक्ट पर से अप्रैल में उठायेगी पर्दा: रिपोर्ट

दुनिया भर के लोगों को आपस में जोड़ने के उद्देश्य से स्थापित हुई कंपनी Facebook, अब अपनी इनोवेटिव तकनीकों और प्रोडक्टों के ज़रिये, यही संभव करने का प्रयास कर रही है। कंपनी अब इनोवेटिव टूलों के माध्यम से सोशल इंफ़्रास्ट्रक्चर में बदल लाने का प्रयास कर रही है। इसी लिये, वे अपनी हार्डवेयर केंद्रित इमारत संख्या आठ में, बंद दरवाज़ों के पीछे, कड़े प्रयत्न कर रहे हैं।

ये एक्स्क्लूज़िव हार्डवेयर केंद्र करीब एक वर्ष पहले स्थापित हुआ था, परंतु आज तक इसके प्रोजेक्टों की जानकारी उपलब्ध नहीं करायी गयी है। परंतु Business Insider की बदौलत, हमें इससे संबंधित जानकारियां मिलती रही हैं। अब, सुनने में आ रहा है कि इन प्रोजेक्टों की झलकियां हमें अगले महीने मिल सकती हैं, और ये हार्डवेयर, Facebook की F8 कॉन्फ़्रेंस में भी महत्वपूर्ण किरदार निभा सकती हैं।

इस रिपोर्ट के मुताबिक, Facebook का इमारत 8 हार्डवेयर केंद्र, एक साथ चार बड़े प्रोजेक्टों पर काम कर रहा है। ये ऑगमेंटेड वास्तविकता, से लेकर ड्रोनों तक, और मस्तिष्क की स्कैनिंग की तकनीकों पर काम कर रहे हैं, जो कि बिलकुल किसी कल्पना से ही निकले सुनाई पड़ते हैं। इनके प्रोजेक्टों को लेकर अभी तक कोई अधिकारिक घोषणा नहीं हुई है, परंतु Facebook इस केंद्र को विस्तृत करने के लिये बहुत से लोगों को नियुक्त कर रही है, इतना हमें पता है।

सबसे पहले तो, John Hopkins के एक पूर्व न्यूरोवैज्ञानिक, जो कि मस्तिष्क द्वारा नियंत्रित प्रोस्थेेटिक हाथ को बनाने के लिये भी ज़िम्मेदार हैं, को मस्तिष्क स्कैनिंग प्रोजेक्ट के लिये ज़िम्मेदार बताया जा रहा है। वहीं दूसरी ओर, सुनने में आया है कि Stanford के एक हृदय रोग विशेषज्ञ, जिनको शुरवाती दौर के मेडिकल डिवाइसों के विकास का अनुभव है, यहां पर मरीज़ों के लिये टेस्ट व इलाज आसान करने के तरीकों पर प्रयोग कर रहे हैं। अन्य प्रोजेक्टों पर और कोई विशेष जानकारी नहीं है, परंतु ये भी सुनने में आया है कि लोगों को AR की मदद से एक ही कमरे में लाने का प्रयास कर के Facebook एक HoloLens बनाने का प्रयास कर रही है, जो कि उनके Occulus Rooms प्रोजेक्ट जैसा ही है, परंतु वास्तविकता में। इसके अलावा, एक पांचवे प्रोजेक्ट की ख़बर भी आयी है, जिसके आने वाले कुछ सप्ताहों में शुरू होने का अनुमान लगाया जा रहा है।

अभी तक Facebook ने उपभोक्ताओं के लिये मात्र एक हार्डवेयर लांच किया है – Occulus VR हेडसेट। और इसे भी कोई विशेष प्रतिक्रिया नहीं प्राप्त हुई है, मुख्यतः, क्योंकि Samsung ने अपना VR हेडसेट मोबाइलों के साथ मुफ़्त उपलब्ध करा कर बाज़ार को अपने डिवाइसों से भर दिया। परंतु अब ये सोशल मीडिया कंपनी हार्डवेयर में फिर से अपने उपभोक्ता केंद्रित डिवाइसों के साथ हाथ आज़माने के लिये तैयार है। उन्होंने अपने हार्डवेयर प्रोजेक्टों का नेतृत्व करने के लिये Google के Advanced Technology और Products की पूर्व DARPA निदेशक रेजीना डूगन को भी नियुक्त किया है।

क्योंकि ये जानकारी अज्ञात सूत्रों से आयी है, तो हम सलाह देंगे कि इसपर आंखों बंद कर के विश्वास न करें। कुछ भी पत्थर में नहीं लिखा हुई है, परंतु ये ज़रूर संभव है कि Facebook फिर से Snapchat की तरह ही अपने हार्डवेयर प्रोडक्ट लाने का विचार कर रही हो। परंतु हमें उम्मीद है कि ये कंपनी के 10 वर्षों के अनुभव की उपज हो, और Facebook के ब्रांड का स्मार्टफ़ोन नहीं। जी हां, उसके बारे में हम आज तक नहीं भूलें हैं।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन