Electronics News

पेटेंट उल्लंघन के आरोप में AMD ने LG, Vizio व अन्य को लिया लपेटे में

AMD (Advanced Micro Devices) को ग्राफ़िक प्रोसेसरों के क्षेत्र में Nvidia का एक कड़ा प्रतिद्वंदी माना जाता है। जहां Nvidia इस समय उच्च स्थान पर हैं , वहीं AMD, अपना नया GPU लांच कर के और अपने पेटेंटों का उल्लंघन कर रही कंपनियों पर हमला कर के आगे बढ़ने का विचार कर रही है। वे ऐसे नकल उतारे प्रोडक्टों क़ो बाज़ार से हटाने का प्रयास कर रहे हैं।

जनवरी में, AMD ने LG, Vizio (जो कि अब LeEco का हिस्सा है), MediaTek और Sigma Designs के प्रोडक्टों (जैसे की टी.वी. फ़्रिज, स्मार्टफ़ोन, IoT डिवाइसों) के संबंध में शिकायत करी थी, जो कि संभवतः उनके ग्राफ़िक पेटेंटों का उल्लंघन कर रहे थे। चिप बनाने वाली कंपनी का कहना है कि ये तीन पेटेंटों का उल्लंघन कर रहे हैं, जो कि कंटेंप्ररी ग्राफ़िक प्रोसेसिंग का मूल हैं। इनमें, एकत्रित शेडर, पैरलल पाइपलाइन ग्राफ़िक सिस्टम और एक इन-प्रोग्रेस पेटेंट हैं, इन दोनों को आपस में जोड़ कर। इनमें से दो तो उस सेमीकंडक्टर कंपनी ATI Technologies के पेटेंट हैं, जिन्हें इन्होंने 2006 में अधिग्रहित किया था।

US के अंतर्राष्ट्रीय ट्रेड कमिशन (ITC) में की गयी फ़ाइलिंग के अनुसार, AMD ने इन तीन कंपनियों द्वारा बनाये जा रहे प्रोडक्टों की जांच करने का आवेदन किया था। कुछ महीनों पश्चात, US ITC ने उन कंपनियों की जांच करना मंज़ूर कर लिया है, जिनके ऊपर AMD के ग्राफ़िक पेटेंट का उल्लंघन करने का आरोप लगा था। उन्होंने एक प्रेस रिलीज़ भी करी,जिसमें उन्होंने कहा कि वे “सेक्शन 336 के तहत कुछ ग्राफ़िक सिस्टमों, कंपोनेंटों व उनकी उपयोग करने वाले उपभोक्ता प्रोडक्टों की जांच करेंगे”। अधिकारिक रिलीज़ में आगे कहा गया:

USITC, इसकी जांच के लिये जल्द से जल्द एक अंतिम निर्णय लेगी। जांच शुरू करने के 45 दिनों के अंदर, USITC इसे पूरा करने के लिये एक तारीखें निर्धारित करेगी।

कंपनी के पास इस समय बाज़ार का एक बहुत बड़ा हिस्सा है और वे PlayStation4, Xbox One और Windows 10 PC को पावर कर रहे हैं। और ये यही बनाये रखना चाहते हैं, ये दर्शै कर कि ये हार्डवेयर बनाने वाली कंपनियां इनकी तकनीक का अपने नाम से उपयोग कर रहे हैं। बुरी ख़बर ये है कि अगर ITC ने इस चिप बनाने वाली कंपनी के पक्ष में निर्णय लिया, तो आरोपी कंपनियों को इसकी चपेट में आये अपने सारे प्रोडक्ट बाज़ार से वापस बुलाने होंगे।

ये LG, Vizio व अन्य कंपनियों के लिये तो बहुत हानिकारक होगा, परंतु क्या ये AMD के बाज़ार में अपनी स्थान बनाये रखने के लिये पर्याप्त होगा? ये इस बात पर भी निर्भर करता है कि क्या इनके कंपनियों ने नयी तकनीक की सहायता से नयी चिपें बना ली हैं या नहीं, और क्या ये जांच खत्म होने से पहले ऐसा कर पायेंगे या नहीं, क्योंकि इनके ऊपर होने वाली ये जांच, करीब 15 कुछ महीनों में पूरी हो जायेगी। हम AMD के इस कदम पर आपके विचार भी जानना चाहते हैं, तो ज़रूर इस पोस्ट पर कमेंट करें।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन