App News

Amazon Prime Music अगले साल तक भारत में हो सकता है लॉन्च: रिपोर्ट

जब भारत में इंटरनेट का इस्तेमाल करने वाली जनसंख्या, अपने Amazon Prime सब्सक्रिप्शन में मौजूदा लाभों का आनंद ले रही है, ऐसे में यह ई-कॉमर्स दिग्गज इस सेवा को और आगे बढ़ाने की कोशिश करती नज़र आ रही है | दरसल Amazon अब अपनी संगीत स्ट्रीमिंग सेवा, Amazon Prime Music को देश में अगले साल की शुरुआत तक सदस्यता पैकेज के हिस्से के रूप में पेश करने का प्रयास कर रही है |

ET की रिपोर्ट के मुताबिक, Amazon India  देश के प्रतिस्पर्धी संगीत स्ट्रीमिंग मार्केट को आकर्षित करने की कोशिश कर रही है जो कि स्थानीय, साथ ही साथ Saavn, Gaana और Apple Music जैसे अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों से भरा पड़ा है | यह वर्तमान में T-Series जैसे रिकॉर्डिंग लेबल्स के साथ चर्चा कर रहा है, लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि अधिकारियों को ये बातें गुप्त रखने के निर्देश मिलें हैं |

उसी बारे में बात करते हुए, T-Series के प्रबंध निदेशक, भूषण कुमार ने कहा

“ Amazon ने अपने Amazon Prime Video सेवा के एक हिस्से के रूप में आने वाले तीन सालों के लिए हमारे फिल्म अधिकारों को हासिल किया है, साथ ही अब वे अगले साल अपनी संगीत सेवा के साथ बाज़ार में आ रहे हैं, इसलिए वे अपनी संगीत सेवा के लिए हमारी सूची हासिल करने की कोशिश कर रहें हैं ”

इसके अलावा, उन्होंने बताया कि T-Series अब Amazon को अपनी संगीत सामग्री पुस्तकालयों के अनन्य अधिकार प्रदान कर रही है | कंपनी ने पहले से ही दूसरे संगीत स्ट्रीमिंग प्लेटफार्मों जैसे Saavn, Gaana और Apple iTunes के साथ समान तौर पर अनन्य समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं जो देश में कार्यरत हैं | और साथ ही दो से तीन वर्ष तक इसका विस्तार किया जा सकता है |

भारत में Amazon Prime Music को लॉन्च करने का निर्णय, कंपनी का अपने विडियो स्ट्रीमिंग मंच के प्रसार को लेकर बढ़ते फोकस को सामान्य करते नज़र आता है, जो पिछले साल लॉन्च किया गया था | इस थोड़ी सी अवधि में, वीडियो स्ट्रीमिंग सेवा ने अपने कम प्रारंभिक सदस्यता प्रस्ताव और क्षेत्रीय सामग्री सूची के कारण उपयोगकर्ताओं को सामूहिक रूप से आकर्षित करने में कामयाबी हासिल की है |

Amazon ने भी अपनी सामग्री पुस्तकालयों का विस्तार करने के लिए ₹2,000 करोड़ रूपये का निवेश भी किया है ताकि प्रतियोगिता के इस दौर में आगे रहा जा सके |

विश्लेषकों का मानना ​​है कि Amazon Prime Music देश के लोगों के लिए एक समान दृष्टिकोण बनाएगा | उनका मानना ​​है कि यह ई-कॉमर्स दिग्गज संगीत की समीक्षा शो में भी निवेश करेगी, और संभवत: देश में सभी शीर्ष संगीत रिकॉर्ड लेबलों से संगीत अधिकार खरीदने के अलावा, स्वतंत्र कलाकारों को भी लॉन्च करेगी | और किसी भी शुल्क के बिना प्रधान सदस्यता में शामिल होने के बाद, यह निर्णय उनके पक्ष में जाता दिखाई देगा |

Amazon Prime Music को मौजूदा प्राइम सब्सक्रिप्शन के तहत 2014 में लॉन्च किया गया था और इसमें पात्र प्राइम सदस्यों के लिए कोई अतिरिक्त लागत शामिल नहीं थी | यह उपयोगकर्ताओं को विज्ञापन-मुक्त संगीत अनुभव, क्यूरेटेड प्राइम प्लेलिस्ट और अन्य निजीकृत प्राइम स्टेशनों तक पहुंच प्रदान करता है | यह आपको अपनी खुद की प्लेलिस्ट बनाने के साथ-साथ असीमित रूप से संगीत सुनन का अनुभव भी देता है (जो कि Spotify की निःशुल्क सदस्यता में प्रतिबंधित है) |

यह प्राइम सब्सक्रिप्शन सर्विस के मौजूदा लाभों में सबसे ऊपर है, जिसमें भारत में दो दिवसीय फ्री शिपिंग और प्राइम वीडियो सब्स्क्रिप्शन शामिल है | अन्य क्षेत्रों में इस सौदे के हिस्से के रूप में सदस्यों को Kindle धारकों को Lending Library तक पहुंच प्रदान की गई है | यह सबसे प्रमुख प्लेटफार्मों पर समर्थित है और अब यह Alexa के माध्यम से भी सुलभ है।

लेकिन, आप यह याद रखें कि Amazon Prime Music हाल ही में Amazon द्वारा लॉन्च किए गये Unlimited Music सदस्यता के समान नहीं है | यह एक स्वतंत्र संगीत स्ट्रीमिंग सेवा है जिसमें Prime सदस्यता के तहत लाखों गाने प्रदान किए जायेंगें |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन