एंटरप्राइज टेक खबर

17 मार्च को ‘India Mobile Congress’ समारोह की मेज़बानी करता नज़र आएगा ‘ETTelecom’

The Economic Times का ही एक अभिन्न अंग, ETTelecom दिल्ली में 17 मार्च को इंपीरियल, जनपथ पर ‘भारत में दूरसंचार उद्योग के लिए अगली बड़ी छलांग‘ विषय पर आधारित, ‘India Mobile Congress 2017’ समारोह का आयोजन कर रहा है |

इस समारोह में वाणिज्य जगत से खिलाड़ी और वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों सहित 200 से अधिक शीर्ष उद्योग अधिकारी हिस्सा लेंगें, जो इस क्षेत्र में आने वाली विभिन्न चुनौतियों पर चर्चा करते नज़र आयेगें |

इस दौरान ‘राजस्व चालकों और चुनौतियों’, ‘4G को अपनाने’, ‘भारत के ब्रॉडबैंड की दशा’, और ‘दूरसंचार सेवा प्रदाताओं के लिए सामग्री अवसरों’ पर चर्चा करने के नजरिये से चार इंटरैक्टिव सत्रों के आयोजन की भी योजना बनाई गई है |

कुछ महत्वपूर्ण वक्ताओं के रूप में निम्नलिखित नामों सहित कई अन्य नामी शख्सियतें शुमार होंगी, जिनमें से कुछ नाम हैं,

  • TRAI के अध्यक्ष, आरएस शर्मा
  • Airtel India & South Asia के एमडी, गोपाल विट्ठल
  • MeitY के सचिव, अरुण सुंदरराजन
  • Vodafone India के एमडी और सीईओ, सुनील सूद
  • Idea Cellular एमडी और सीईओ, हिमांशु कपापनिया
  • Reliance Communications के सह-सीईओ, गुरदीप सिंह
  • Xiaomi India के प्रमुख, मनू जैन
  • Huawei India के सीईओ, जय चेन
  • Nokia India के प्रमुख संजय मलिक

दूरसंचार क्षेत्र में समेकन सहित प्रमुख घटनाक्रमों के साथ, लंबे सम्मेलनों का उद्देश्य हाल ही के मुद्दों पर स्पष्टता प्रदान करना होगा, वहीं 2020 के लिए दृष्टिकोण पर चर्चा और ज्ञान-साझाकरण के माध्यम से उपस्थित लोगों के दृष्टिकोण को एक नया आयाम प्रदान किया जा सकेगा |

इस बारे में Economic Times Verticals (Digital) के व्यापार प्रमुख, अमित कुमार गुप्ता ने कहा,

“ जैसा कि उद्योग मौजूदा वाइस-लीड राजस्व स्ट्रीम से डेटा-आधारित राजस्व की दिशा में कदम उठा रहें हैं, इसी ताज़ पर India Mobile Congress 2017 समारोह भी सरकार, उद्योग के खिलाड़ियों और बड़े पैमाने पर लोगों के लिए सभी मौजूदा साधनों का पता लगाने का प्रयास करता नज़र आएगा ”

खैर ! भारत मिएँ होने जा रहा यह समारोह किस हद तक सफ़ल साबित हो पाता है, यह तो वक़्त ही बताएगा, लेकिन यह जरुर है की इस तरह के प्रयासों से देश में टेलीकॉम जगत में नए आयामों की संभवनाओं को अवश्य ही बल मिलेगा |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन