खबर स्टार्टअप्स

LatestOne.com की पैरेंट कंपनी, Plared Tech को Florintree Advisors से मिला ₹22 करोड़ का निवेश

ई-कॉमर्स मंच LatestOne.com की हैदराबाद स्थित अभिभावक कंपनी Plared Technologies को नवीनतम सत्र में ₹22 करोड़ का निवेश प्राप्त हुआ है। ये निवेश सत्र की अगुवाई Florintree Advisors ने करी, जिसके नियंत्रक Blackstone के भारत के पूर्व पी.ई. प्रमुख मैथ्यू सायरिऐक थी और इसमें चिदमबरंम पलनिअप्पम ने भी हिस्सा लिया।

Chrys Capital के संस्थापक और इस कंपनी में पिछले 10 वर्षों से निवेशक आशीष धवन ने भी इसमें हिस्सा लिया। Star TV India के जॉइंट एम.डी. के माधवन और Great Eastern Shipping के एम.डी. भरत शेध ने भी इसमें हिस्सा लिया।

NSE और BSE, दोनों में ही लिस्ट Palred Tech सभी निवेशकों को ₹145 प्रति दाम के आधार पर निवेश उपलब्ध करायेंगे, और करीब अपनी 15% एक्विटी उपयोग कर लेना चाहते हैं। कंपनी LatestOne.com को चला रही है, जो कि न केवल इस समय एक बहुत ही बड़ा वर्टिकल ई-कॉमर्स मंच है, परंतु भारत में मोबाइल ऐक्सेसरी का सबसे बड़ा ई-टेलर भी है।

इस नवीनतम निवेश के साथ, कंपनी अपने विस्तार कि ओर कार्य करेगी। कंपनी के चेयरमैन पालन श्रीकांत रेड्डी ने कहा:

इस निवेश का प्रयोग, अधिक फ़ुलफ़िलमेंट केंद्र बनाने में, ब्रांड स्थापित करने में और इंवेंटरू बनाने में होगा। हमें अपना B2B कॉमर्स चैनल बनाने कि ओर भी ध्यान देना होगा, क्योंकि ये इस क्षेत्र को बहुत संभावनायें उपलब्ध कराता है।

LatestOne का क्वार्टरली रेवेन्यू ₹12.5 करोड़ का रहा है और उन्हें ₹30 करोड़ का निवेश भी प्राप्त हुआ है। कंपनी ने कहा है कि वे अपनी ‘बर्न दर’ तेज़ी से कम करने की राह पर हैं। इसी पर बयान देते हुए रेड्डी ने कहा:

हम चौथी तिमाही के लिये 15% के रेवेन्यू की उम्मीद कर रहे हैं। कुल बर्न दर इस वर्ष 10% से कम होने का अनुमान है।

पहले Four Soft नाम से प्रचलित Palred Technologies ने अपना लॉजिस्टिक सॉफ़्वेयर व्यापार 2014 में Francisco Partners को बेच दिया था। Stanford से सनातक प्राप्त करने वाले रेड्डी समेत Four Soft के प्रचारकों ने उसमें से कुछ पैसे बचा कर LatestOne की स्थापना करी थी।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन