खबर स्टार्टअप्स

विज्ञापनों में प्रधानमंत्री की फोटो का उपयोग करने के लिए ‘Reliance Jio’ और ‘Paytm’ ने माँगी माफ़ी

टेलीकॉम क्षेत्र में आँधी की तरह आये Reliance Jio, और देश के प्रमुख ऑनलाइन भुगतान मंच, Paytm सहित दोनों ने आज पूर्व अनुमति के बिना अपने विज्ञापनों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर का उपयोग करने की “अनजान गलती” के लिए माफी मांगी है |

राज्य सभा में उत्तर देते हुए , उपभोक्ता मामलों के राज्यमंत्री, सी आर चौधरी ने कहा,

“ उपभोक्ता मामलों के विभाग ने Paytm और Reliance Jio से स्पष्टीकरण मांगे थे, जिसमें उन्होंने अपनी इस अनजान गलती के लिए माफी मांगी है ”

Paytm ने 9 नवंबर को विज्ञापन जारी किए थे, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फोटो शामिल थी | इस विज्ञापन का इरादा सरकार से पुनर्मुद्रण के कदमों का स्वागत करना था | उसी विज्ञापन में, कंपनी ने जनता से आग्रह किया गया था कि नकदी के विरोध में अपनी डिजिटल वॉलेट सेवा का उपयोग शुरू किया जाए |

दूसरी ओर, Reliance Jio ने पिछले साल सितंबर में अपने व्यावसायिक प्रक्षेपण के पश्चात प्रधानमंत्री की तस्वीरों को प्रदर्शित करने वाले प्रिंट विज्ञापन और टेलीविज़न अभियान की शुरुआत की थी |

इन्हीं कारणों से इन विज्ञापनों ने सार्वजनिक हित याचिका और राजनीतिक बहस का नेतृत्व किया |

इस प्रकार, उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने इन दोनों कंपनियों के लिए प्रतीकों और नाम (अनुचित प्रयोग निवारण) अधिनियम, 1950 के तहत नोटिस जारी किए थे, जिसमें वाणिज्यिक उपयोग के लिए प्रधानमंत्री के नाम और तस्वीर को बार-बार इस्तेमाल किया गया है |

अधिनियम की धारा 3 में कहा गया है कि कोई भी व्यक्ति केंद्र सरकार की पूर्व अनुमति के बिना किसी भी व्यापार, व्यवसाय, कॉलिंग या अन्य व्यवसाय के उद्देश्य के लिए किसी भी नाम या प्रतीक का उपयोग नहीं कर सकता है |

साथ ही इस प्रावधान में यह भी कहा गया कि

” कोई भी व्यक्ति जो धारा 3 के प्रावधानों का उल्लंघन करता है, वह दंडनीय होगा, जिसपर 500 रूपये तक का जुर्माना लग सकता है “

साथ ही, सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने किसी भी विज्ञापन को जारी करने से पहले सक्षम प्राधिकारी की अनुमति को जांचने की एक सलाह जारी कर दी है जिसमें अधिनियम के तहत निर्दिष्ट प्रतीक और नाम शामिल हैं |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन