Uncategorised खबर

दो अच्छे दिनों के बाद, Snap ने देखा दूसरा बुरा दिन

Snapchat की अभिभावक कंपनी Snap ने जब अपना IPO लांच किया तो उन्होंने तहलका मचा दिया। पहले तो उन्होंने अपनी अनुमानित रेंज $14-$16 से अधिक, $17 पर अपना स्टॉक लांच किया। फिर, कंपनी का स्टॉक दो दिन चढ़ कर अभी तक के अपने सबसे अधिक, $29 पर पहुंच गयी। परंतु ऐसा लग रहा है कि किसी ने सिक्का पलट दिया है और Snap के स्टॉक लगातार दूसरे दिन गिरे हैं।

Snap का स्टॉक, मंगलवार को $22 तक पहुंच गया। और ये आर्टिकल लिखते समय, स्टॉक $22.20 पर था, 9% की गिरावट के साथ।

हां, स्टॉक ज़रूर अपने IPO के $17 दाम से तो बहुत ऊपर है। परंतु इससे लाभ उन्हें लोगों को हुऐ है, जिन्हें IPO के समय पर ही Snap के स्टॉक खरीदने की अनुमती थी। ये हर किसी को नहीं उपलब्ध था और जब ऊंचे दर्जे के स्टॉक खरीदने वाले निवेशकों ने हज़ारों स्टॉक खरीद लिये, फिर 1 या 100 तक स्टॉक खरीदने वालों का नंबर आया था।

तो हां, बड़े निवेशकों के पास अभी भी 25% का लाभ है। परंतु जिस दर से ये स्टॉक गिर रहा है, उस हिसाब से ये बहुत ही जल्द बदल सकता है। बहरहाल, इस समय Snap की वैल्युएशन $30 बिलियन है, जो कि उनके IPO की वैल्युएशन, $20 मिलियन के बहुत ही करीब है।

अनेकों निवेशकों की रुची के बाद भी, सब कुछ इस समय अस्पष्ट दिख रहा है। ऐनालिस्टों ने Snap को अधिकतम ‘बेचें’ या ‘होल्ड रखें’ रेटिंग दी है। ये उन निवेशकों के लिये बिलकुल सही नहीं बैठ रहा, जिन्होंने वोटिंग के हक के बिना ही थोक में Snap के स्टॉक खरीदे थे।

बहरहाल, ये भी स्पष्ट हो रहा है कि Snap भी Facebook व Twitter की तरह ही कठिन शुरवाती दौर से निकलेगी। ये दौर खत्म होने के बाद इनका क्या हाल होता है, वो तो वक्त ही बतायेगा।

कंपनी ज़रूर Facebook की राह पर चलना चाहती होगी, जो कि शुरवाती खराब दौर के बाद, वापस सही रास्ते पर आ गयी थी। पिछले दो दिन बहुत अच्छे नहीं रहे हैं – परंतु इसका मतलब कुछ नहीं निकलता, क्योंकि हम सभी को पता है कि स्टॉक बाज़ार बहुत ही असमंजस से भरा रहता है। Snap के भविष्य के बारे में स्पष्टता से टिप्पणी करने के लिये हमें कम से कम एक सप्ताह तो इंतेज़ार करना ही होगा।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन