Google News

Google ने की ‘Kaggle’ अधिग्रहण की पुष्टी

Google ने अंततः अपने Kaggle अधिग्रहण की पुष्टी कर दी है। ये अफ़्वाह कल उड़ी थी, और अब, इस बात की पुष्टी भी हो गयी है। Google ने इस बात की घोषणा सैन फ़्रांसिस्को में आयोजित हो रही अपनी Google Cloud Next कॉन्फ़्रेंस में करी।

कंपनी ने इससे संबंधित डीटेल तो नहीं बतायी है, परंतु ये Kaggle के नज़रिये ये बहुत आकर्षक होगी, क्योंकि ये अपने प्रकार के बहुत कम मंचों में से एक है। ये मंच दुनिया भर के डेटा विज्ञान विशेषज्ञों को साथ में लाने कि ओर केंद्रित है और ये कयी डेटा विज्ञान और मशीन लर्निंग प्रतिद्वंद भी कराते हैं।

Kaggle के पास इस समय हज़ारों उपभोक्ता हैं, और क्योंकि इस क्षेत्र में ही अभी कम लोग हैं, तो ये संख्या बहुत ही विशाल है। संभवतः ये उन सबसे बड़े कारणों में से एक था, जिसने Kaggle को ये मंच खरीदने कि ओर आकर्षित किया। Kaggle के अधिग्रहण के बाद, कंपनी को दुनिया के शायद सबसे बड़े डेटा विज्ञान समाज का ऐक्सेस मिल गया है। क्योंकि Amazon जैसी कंपनियां भी कयी तकनीकों पर कार्य कर रही हैं और उन्हें भी डेटा वैज्ञानिकों की ज़रूरत है, तो ये स्पष्ट है कि Google को अब पहला चुनाव करने का अवसर प्राप्त होगा।

और तो और, डेटा वैज्ञानिकों के मध्य, Google की चर्चा भी बढ़ेगी। हां, ऐसा बहुत ही मुश्किल है कि सबसे अधिक कामकाजी वैज्ञानिक ने भी इनका नाम न सुना हो, परंतु अब, Kaggle को खरीदने के पश्चात, वे वैज्ञानिकों से सीथे बात कर सकेंगे और उस समाज में खुद को स्थापित कर सकेंगे।

इससे, समाज में Google की छवी अच्छी होगी, और फिर वे अपने लिये सबसे बहतरीन वैज्ञानिकों का चुनाव कर सकते हैं। क्योंकि डील की जानकारी गुप्त रखी गयी है तो हम केवल अनुमान लगा रहे हैं, परंतु ये भी संभव है कि Google इस समाज के उत्तम लोगों को छांट कर उन्हें कंपनी में पद उपलब्ध कराये। परंतु हम फिर करेंगे, ये केवल हमारा अनुमान है।

बहरहाल, ये अधिग्रहण ज़रूर Google के कृत्रिम बुद्धी प्रयासों को बढ़ावा देगा।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन