खबर

Udacity ने अपने सबसे पहले अधिग्रहण के लिये ‘CloudLabs’ को चुना

ऑनलाइन शिक्षा मंच Udacity ने अब तक का अपना पहला अधिग्रहण किया है। फ़र्म ने CloudLabs का अधिग्रहण किया है, जिससे कि वे छात्रों को कोड करने के लिये एक इंटरैक्टिव माहोल बनाना चाहते हैं। अगर आपको पता न हो तो बता दें, CloudLabs उपभोक्ताओं को एक दूसरे के साथ इंटरैक्ट कर के कोड करने की सुविधा देते हैं।

संभवतः, CloudLabs ऐसे मंच भी बना सकते हैं, जहां अन्य लोग भी दूसरे कंप्यूटर कोर्सों के लिये इंटरैक्टिव कोडिंग मंच बना सकते हैं। उदाहरण के तौर पर, terminal.com भी एक ऐसी ही जगह है जो डेवलपरों के मध्य बहुत प्रचलित थी। बहरहाल, अब CloudLabs की क्षमताओं का प्रयोग Udacity अपने लाभ के लिये उपयोग करेगी। इनकी तकनीक का उपयोग कर के शिक्षक कोड का परीक्षण कर के उसको अपने छात्रों के साथ भी बांट सकते हैं – जिससे ऑनलाइन शिक्षा का सबसे महत्वपूर्ण बेस कवर हो जाता है।

बहरहाल, CloudLabs के सी.ई.ओ. डॉ. वरुण गणपती, 5 लोगों की अपनी टीम के साथ Udacity से जुड़ जायेंगे। गणपती अभी इन दोनों के मंचों को जोड़ने में सहायता करेंगे, और फिर Udacity के मशीन लर्निंग प्रोग्राम से जुड़ जायेंगे। Udacity उनकी टीम की सहायता से अंक देने की प्रक्रिया को स्वचलित करने का प्रयास भी कर रहे हैं।

संभवतः, Udacity ने अपने नैनोडिग्री पर terminal.com के कुछ फ़ीचर लेकर जाले थे। जब चीज़ें सही लगने वहीं, तो कंपनी ने CloudLabs को ही अधिग्रहित करने का निर्णय ले लिया। न केवल इस अधिग्रहण से उन्हें इंटलेक्चुअल प्रॉपर्टी के रूप में ज़रूरी ऐसेट प्राप्त हुए हैं, बल्कि गुणा प्रोग्रामरों की एक टीम भी उन्हें मिली है।

बहरहाल, terminal.com काम करना बंद कर देगी, क्योंकि टीम अपना ध्यान Udacity की ओर केंद्रित करेगी। मंच पर दरसल बहुत कुछ है, क्योंकि वही वर्चुअल वास्तविकता से लेकर मशीन लर्निंग तक में नैनोडिग्री देते हैं। प्रोग्रामों में लोगों को बहुत रुची है और अंक देने की प्रक्रिया को स्वचलित करने से बहुत लाभ होगा, और साथ ही, CloudLabs की क्षमताओं को Udacity से जोड़ने का भी।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन