इलेक्ट्रानिक्स खबर गेमिंग

Sony ने मात्र चार महीनों में बेचे, करीब 1 मिलियन PlayStation VR हेडसेट

इससे अच्छा किया होगा कि आप एक विशाल स्क्रीन के सामने बैठ कर, बहतरीन हेडसेट पहन कर गेम खेवरहे हैं, जिससे कि ऐसा लगे कि आप गेम के अंदर ही हैं। गेम के अंदर होना! -हमें ये नहींं समझ आता कि लोगों ने वर्चुअल वास्तविकता गेमिंग पर संदेह क्यों किया था, क्योंकि ये, बहुत ही विशाल बनता जा रहा है। आप Sony से ही पूछ लीजिये।

NYT के मुताबिक, Sony करीब 915 हज़ार VR हेडसेट बेच चुकी है, वो भी लांच होने के चार महीनों के अंदर ही। ये Sony के खुद के अनुमान से भी बढ़ कर है, जिन्होंने छः महीनों में आधे मिलियन हेडसेट बेच पाने की उम्मीद करी थी। तो अब केवल 85 हेडसेट और दो महीने बाकी रहने के बाद, हम ये कह सकते हैं कि कंपनी अपने अंदरूनी लक्ष्यों को प्राप्त कर लेगी, अगर उनसे आगे नहीं भी बढ़े तो भी।

VR हेडसेट, पिछले वर्ष अक्टूबर में लांच हुआ था और कंपनी के PS4 कंसोल के साथ काम करता है। इससे, उपभोक्ताओं को एक महंगा गेमिंग पी.सी. ख़रीदने की ज़रूरत नहीं पड़ती, परंतु इतने सारे हेडसेट बिकने (दिसंबर में ही 50 मिलियन) से ये पता चलता है कि कंपनी के पास अनेकों गेमर उपभोक्ता हैं जो कि इमर्ज़न के अगले स्तर पर पहुंचना चाहते हैं।

ये तुलना में सस्ता भी है, क्योंकि Occulus Rift ($599 का केवल हेडसेट) व HTC ($799) हेडसेट न केवल महंगे हैं परंतु उनका उपयोग करने के लिये उपभोक्ताओं को अपने गेमिंग पी.सी. की भी ज़रूरत होती है। Sony का सिस्टम न केवल $499 के साथ सस्ता है, परंतु आपको इसके लिये एक गेमिंग पी.सी. लेने की भी ज़रूरत नहीं पड़ेगी और आप इसे PlayStation 4 पर ही चला सकेंगे।

Sony क रिपोर्ट न केवल य साबित करती है कि बाज़ार में VR गेमिंग की कितनी मांग है, परंतु वे इसके कैसे पूरा करेंगे, इसका भी रास्ता दिखता है। Occulus Rift और HTC Vive भले ही कमाल के हो, परंतु अंकों के मुताबिक, उनके उपभोक्ता Sony से आधे हैं।

न केवल Sony का हेडसेट सस्ता है, बल्कि इसको चलाने के लिये आपको हज़ारों का कंप्यूटर नहीं फ़िक्स करना होगा, वो भी हेडसेट पर ही सैकड़ों खर्च करने के बाद। हां, कोई भी करियर गेमर स़ये कर सकता है, परंतु अगर आप सभी कुछ बाद में बेचने का भी विचार करें, तो करियर गेमिंग आपके लिये नहीं है।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन