खबर भविष्यकाल

उपग्रहों के संचालन व प्रोडक्शन को स्वचलित करना चाहती है Boeing

जहां हर जगह स्वचालन की लहर दौड़ रही है, ये स्वभाविक है कि ऐरोस्पेस के बड़े खिलाड़ी Boeing भी इसका मज़ा लेना चाहते हैं। ख़बर आयी है कि कंपनी अपने उपग्रहों के संचालन व प्रोडक्शन के स्वचलित करने जा रही है।

ये ख़बर Wall Street Journal कि ओर से आयी है। संभवतः Boeing उपग्रहों से संबंधित अपने सभी प्रोसेसों को स्वचलित करना चाहती है, जिससे कि उनकी उपयोगिता बहतर हो और कम नोटिस पर भी इनका उत्पादन तेज़ी से हो सके। लगता है कि इस कदम से कंपनी एक ऐसे बाज़ार में आगे रहने का प्रयास कर रही है, जहां कयी तुर्की कंपनियां आ रही हैं।

कुछ वर्षों पहले तक ही, अंतरिक्ष व उससे संबंधित सभी चीज़ों के लिये Boeing को बहुत ही कम प्रतिद्वंद झेलना पड़ता था। उन्हें मोटे-मोटे सरकारी कॉन्ट्रैक्ट मिलते थे और सब कुछ अच्छा चल रहा था। परंतु Tesla Blue और Origin जैसी कंपनियों के आने के बाद, सब बदल गया। अब आपको अंतरिक्ष का रुख करती हुई कयी कंपनियां मिलेंगी और बाज़ार कुछ समय से और भी प्रतिद्वंद से लैस होता जा रहा है। बहुत ही कम मार्जिनों के चलते, अब Tesla जैसी कंपनियों को NASA के कॉन्ट्रैक्ट मिल रहे हैं।

ये सब ध्यान में रखते हुए, Boeing अब अपनी रणनीति में बदलाव ला रही है। सुना है कि कंपनी जहां भी संभव है, वहां 3-डी प्रिंटिंग का उपयोग कर रही है और उपग्रहों के डिज़ाइनों को पहले सैंपल कर रही है,जिससे कि एरर जर कम हो और प्रोडक्श को तेज़ किया जा सके। इन सब में नयी तकनीक लाकर Boeing एक ऐसा भविष्य बनाने का प्रयास कर रही है, जिससे कि दाम कम हों और वे क्षेत्र की अन्य निजी कंपनियों से प्रतिद्वंद कर सकें।

बहरहाल SpaceX जैसी कंपनियां Boeing को अपनी रणनीति में बदलाव लाने के लिये मजबूर कर रही हैं, ये सुन कर अच्छा लगा। ये बहुत ही महत्वपूर्ण है कि कंपनी अपने बिखरे हुए ऑपरेशन को संभाल ले, क्योंकि ईलॉन मस्क के मंगल में सिविलाइज़ेशन बनाने से लेकर NASA के कई प्रोडक्टों तक, हम अंतरिक्ष युग की चौखट पर खड़े हैं।

Boeing नहीं चाहती कि उन्हें कल को एक ऐसी कंपनी के रूप में याद रखा जाये, जो प्रतिद्वंद में पीछे रह गयी। और इसी लिये, व केवल उपग्रहों के दाम ही कम नहीं करना चाह रहे, बल्कि ये भी सुनिश्चित कर रहे हैं कि उनके उपग्रह अधिक से अधिक अच्छी तकनीक वाले और स्वचलित हों।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन