खबर स्टार्टअप्स

IPO बनने के कुछ हफ़्ते पहले ही, Snap Inc. के कार्यकारी अधिकारी, कृष्णन ने छोड़ा कंपनी का साथ

Snap Inc. एक बहुप्रतीक्षित IPO बनने से मात्र कुछ सप्ताह दूर है और ऐसे में कंपनी बिल्कुल भी नहीं चाहेगी कि उनका कोई भी कार्यकारी अधिकारी कंपनी का साथ छोड़े | लेकिन Snap के कुछ शीर्ष अधिकारियों में से एक, श्रीराम कृष्णन ने कंपनी में शामिल होने के लगभग एक साल बाद ही अपनी भूमिका से इस्तीफा देने का फैसला किया है |

इस ख़बर पर सर्वप्रथम Recode ने प्रकाश डाला, जिनका मानना है कि किसी अधिकारी के प्रस्थान के लिए, यह समय कंपनी के लिए उचित नहीं होगा |

कंपनी ने अपनी IPO की सदस्यता के लिए निवेशकों को आश्वस्त करने के लिए, बड़े पैमाने पर रोड शो करने का इंतजाम किया है, और इस बीच ऐसी ख़बरें इस कार्यक्रम को प्रभावित कर सकती हैं |

 

इस बीच कृष्णन ने इस बात की पुष्टि करने के साथ ही, उनकी विदाई संबंधी फ़ैली चारों ओर की हवा पर रुख साफ़ करने के लिए ट्विटर का सहारा लिया |

उनकी इस विदाई पर अब ऐसी अटकलें लगाई जा रहीं हैं कि कृष्णन का Snap के IPO बनने के संबंधी योजनाओं पर विश्वास नहीं है | लेकिन इन सब अटकलों को साफ़ करते हुए, कृष्णन ने अपने विदाई संबंधी कारणों का जिक्र किया और कहा की वह कंपनी इसलिए छोड़ रहें हैं क्योंकि वह अपनी पत्नी, आरती राममूर्ति, परिवार और दोस्तों के साथ वक़्त बिताने के लिए सैन फ्रांसिस्को वापस जा रहें हैं |

लगभग एक साल पहले ही Snap ने Facebook से कृष्णन को नियुक्त किया , ताकि कंपनी अपने विज्ञापन मंच को कौर मजबूत बना सके | साथ ही APIs के निर्माण संबंधी योजनाओं के लिए भी इनको कंपनी में शामिल किया गया, ताकि कारोबारियों को मैन्युअल रूप से विज्ञापनों की ख़रीद न करनी पड़े |

इसके साथ ही उन्होंने कंपनी के लिए कई महत्वपूर्ण विज्ञापन उपकरणों को भी लॉन्च किया, जैसे Custom Audiences इत्यादि | इस प्रकार, वह विज्ञापन के बड़े पैमाने पर, मंच के प्रदर्शन को बढ़ाने में शामिल रहे |

क़रीबी सूत्रों का कहना है कि वह अब अपने परिवार के साथ वक़्त बिताना चाहतें हैं और साथ ही अपनी पत्नी के कैमरा और गैजेट किराये पर उपलब्ध करवाने संबंधी स्टार्टअप, Lumoid में उनको मदद करेंगें |

Snap ज्वाइन करने से पहले, कृष्णन ने तीन साल Facebook के साथ कार्य किया, जहाँ उन्होंने Audience Network स्थापन में अहम भूमिका निभाई | लेकिन अब उनके इस विराम पर भले ही कई अटकलें लगाई जा रहीं हों, लेकिन पारिवारिक कारणों को तवज्जों देने वाले कृष्णन पर ज्यादा सवाल उठाना शायद ही किसी हाल में सही हो |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन