खबर भविष्यकाल

अगले साल तक हजारों ‘सेल्फ़-ड्राइविंग’ कारों को लॉन्च कर सकता है General Motors

Front Pedestrian Braking, a new active safety technology available on the 2016 Chevrolet Malibu and 2016 Cadillac CT6, is one of many safety features tested at General Motors' new Active Safety Test Area at the Milford Proving Ground in Milford, Michigan. (Photo by Jeffrey Sauger for General Motors)

आख़िर कब ऐसा होगा कि हम सड़कों पर सामान्य रूप से सेल्फ़-ड्राइविंग कारों को चलते देख पायेंगे ? दरसल ! यह सवाल आज सभी की जुबान पर है | जहाँ कई लोगों का मानना है कि इस सपने को पूरे होने में करीब एक दशक से कम का ही वक़्त लग सकता है, वहीं दूसरी ओर कई ऐसे लोग भी हैं जो इसको लेकर महज कुछ सालों के वक़्त का ही जिक्र करतें हैं |

और अब इस सपने को और अधिक वास्तविकता के आयाम देने के लिए General Motors और Lyft ने कम कस ली है, General Motors और Lyft ने अगले साल तक कई हजारों सेल्फ़-ड्राइविंग कारों के शुभारंभ की योजना बनाई है |

Reuters की रिपोर्ट के अनुसार, GM और Lyft साथ भागीदारी कर, हजारों सेल्फ़-ड्राइविंग कारों को वास्तविकता के आयामों में ढालने की योजना बना रहें हैं | यह सभी वाहन Chevrolet Bolt प्लेटफ़ॉर्म पर आधारित होंगे, और रिपोर्ट के अनुसार, इनका इस्तेमाल टैक्सी सेवाओं को लेकर भी किया जा सकता है |

हालाँकि हम आपको बता दें कि रिपोर्ट में इनको “परीक्षण बेड़े” का ही नाम दिया गया है | इसलिए ऐसा माना जा रहा है कि GM एक सीमित स्तर पर इन वाहनों का आगाज़ कर सकता है | साथ ही इन सब के बीच Lyft उनका कुछ राज्यों में परीक्षण कर,यह सुनिश्चित करेगा कि क्या हर जगह इनका विस्तार किया जाना ठीक होगा या नहीं |

इस बीच हम आपको बता दें कि GM पहले ही यह बयान दे चुकी है कि कंपनी लोगों की अपेक्षाओं से पहले ही सेल्फ़-ड्राइविंग कारों का निर्माण कर सकती है | साथ ही कंपनी द्वारा पहले से ही सैन फ्रांसिस्को और एरिजोना जैसे शहरों की सड़कों में Bolt-EVs का परीक्षण किया जा चुका है | हाल ही मिली ख़बरों के अनुसार, कंपनी अब Michigan की सड़कों पर भी इसको अजमाने की योजना बना रही है |

इन सब के पहले भी GM और Lyft के बीच की आपसी भागीदारी काफ़ी दिनों से चली आ रही है, और दोनों चुपचाप तरीके से इन सेल्फ़-ड्राइविंग वाहनों के निर्माण संबंधी प्रयास कर रहीं हैं |

न सब के बीच Lyft अकेला नहीं है, बल्कि उनकी प्रतिद्वंदी कंपनी, Uber ने भी इन प्रयासों को लेकर कमर कस ली है, जिसके लिए कंपनी ने Daimler के सभी साझेदारी भी की है और शायद Uber के यह प्रयास काफ़ी खर्चीले भी साबित हों |

इन्होंने सेल्फ़-ड्राइविंग तकनीक संबंधी प्लेटफ़ॉर्म की भी शुरुआत कर दी है, जो सभी OEMs के लिए खुला है | इसका साफ़ सा मतलब है कि निर्माता इनके मंच पर अपने सेल्फ़-ड्राइविंग बेड़े का परीक्षण कर सकतें हैं |

हालाँकि ज्यादा जानकारियाँ तो सामने नहीं आई हैं, लेकिन Uber और निर्माता दोनों ही प्राप्त लाभ को साझा करतें हैं | और शायद आपको यह बताने की जरूरत नहीं है कि सेल्फ़-ड्राइविंग वाहनों के कितना मुनाफ़ा  अर्जित किया जा सकता है |

खैर ! अब देखना यह है कि यह कदम हमें इस तकनीक के क्षेत्र में और कितना आगे ले जा पाएगा |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन