एप्पल खबर

वॉरेन बूफ़े की अगुवाई में, Berkshire Hathaway ने Apple में अपनी होल्डिंग को किया तीन गुना

वॉरेन बूफ़े अच्छे चुनाव करने के लिये जाने जाते हैं। आप ग़लत स्टॉक निर्णय लेकर दुनिया के सबसे अमीर आदमी तो नहीं ही बन सकते हैं। इसी लिये Berkshire Hathaway के Apple में अपनी होल्डिंग को तीन गुणा बढ़ाने की घोषणा का मतलब है कि कंपनी (और श्री बूफ़े), इस कूपरटीनो कंपनी के भविष्य में बहुत बढ़ंत देखते हैं।

Berkshire Hathaway ने कहा कि पिछले वर्ष की अंतिम तिमाही में, उनके पास 57.35 मिलियन Apple के शेयर थे। ये संख्या, पिछले वर्ष की तीसरी तिमाही के 15.22 मिलियन शेयरों, जो कि उनके पास थे, से तो कम ही है। इनका मतलब है कि उन्होंने केवल पिछले 3-4 महीनों में करीब 42 मिलियन Apple के शेयर खरीदे हैं। कमाल की बात है कि इसके बाद भी ये Apple के सबसे बड़े शेयरहोल्डर नहीं, बल्कि Blackrock और Vanguard हैं।

ये बिक्री उस समय पर हुई है, जो कि Apple के लिये बहुत अच्छा नहीं था। कंपनी को 2016 में बहुत से झटके लगे, क्योंकि उनके iPhone की बिक्री की संख्या और उससे आये रेवेन्यू, दोनों में बहुत ही कमी आयी है। परंतु iPhone 7 और Note 7 के कारण, पिछले वर्ष के आखिर तक आकर कंपनी ने वापस बढ़ंत हासिल कर ली थी। परंतु पिछले वर्ष Apple के फ़ोन खरीदने के लिये कोई तत्पर नहीं था, क्योंकि ये बढ़ंत से वैल्यू कि ओर शिफ़्ट हो गया था।

ज़रूर बूफ़े का वैल्यू स्टॉकों से लगाव है, ये तो सब जानते हैं। उनके निर्णय को जैसे सही साबित करने के लिये, Apple का स्टॉक आज $135 मिलियन से भी ऊपर के रिकॉर्ड दाम पर बंद हुआ। हाल ही में श्री बूफ़े ने पहने जा सकने वाली तकनीक पर हाथ रखते हुए ये कहा था कि इसमें हाथ आज़माना अब सुरक्षित होगा। तो अगर अचानक इस वर्ष के ख़त्म होने से पहले इसमें वृद्धी हो जाये, तो चौंकियेगा मत।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन