खबर स्टार्टअप्स

ऑन-डिमांड लांड्री स्टार्टप, ‘Wassup’ ने ए सत्र में हासिल किया $3.2 मिलियन का निवेश

एक ऑन-डिमांड लांड्री स्टार्टप Wassup ने आज अपने ए सत्र में अपने पुराने निवेशकों से $3.2 मिलियन का निवेश प्राप्त करने की घोषणा करी है। इस सत्र में भारत और मध्य पूर्व के कई अधिक वैल्यू वाले लोगों ने हिस्सा लिया, जिनमें Refex Energy के एम.डी. अन्ल जैन शामिल थे।

इस नये निवेश के साथ, कंपनी अपना व्यापार का विस्तार और नये लोगों को नियुक्तियां करेगी। कंपनी अब 25 शहरों में अपने कार्यालय स्थापित करने और दक्षिण पूर्वी एशिया व पश्चिम एशिया में विस्तार करने की सोच रही है।

इसके साथ ही, कंपनी उपभोक्ता इंटरफ़ेस बहतर करेगी और छोटे-छोटे अधिग्रहणों के माध्यम से उपभोक्ता बेस भी बढ़ायेगी।

निवेश पर बात करते हुए इस सत्र में निवेश करने वाले अनुसार जैन ने कहा:

कंपनी के पास एक लंबा चलने वाला, मज़बूत मॉडल है, जिसके चलते वे 2011 में अपनी शुरवात से विस्तार कर रहे हैं। जहां पिछले 18 महीनों में अनेकों लांड्री सेवाएं खुल कर बंद भी हो चुकी हैं, Wassup ने अपनी सूचि में सात शहर और जोड़ लिये हैं।

इस ए सत्र से पहले, इस ऑन-डिमांड लांड्री स्टार्टप Jabong के सहसंस्थापकों अरुण चंद्र मोहन और प्रवीण सिन्हा और एंजल निवेशक मिली वाटवानी से $2 मिलियन का निवेश प्राप्त हुआ था। इन्होंने दो स्टार्टपों Ezeewash और Fabfresco को अधिग्रहित भी किया है।

2011 में स्थापित Wassup मध्यम वर्गीय भारतीय लोगों को केंद्रित करती है। ये लांड्री, ड्राई क्लीनिंग, जूतों व बैंगों की मरम्मत की सेवा उपलब्ध कराते हैं, वो भी देश के सात शहरों में दरवाज़े तक की सुविधा के साथ। उपभोक्ता इनकी सेवा ऐप से या वेबसाइट से इनकी सेवा बुक कर सकते हैं। इनके पास B2B और B2C के हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री के उपभोक्ता भी हैं, चेन्नई, बेंगलुरु, हैदराबाद, कोच्ची, दिल्ली, मुंबई व पुणे में।

भले ही Washio, Mywash व Doormint जैसी कंपनियां बंद हो चुकी हैं, Wassup एक ऐसा खिलाड़ी लग रही है, जो कि अभी तक पैर जमाये खड़ी है।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन