ई-कॉमर्स खबर मोबाइल एप्प्स

10 फरवरी से अपने ऑनलाइन हस्तशिल्प बाजार ‘Shopo’ को बंद कर रहा है Snapdeal

क़रीब एक साल पहले ही Snapdeal ने भारत भर में छोटे और व्यक्तिगत विक्रेताओं के लिए अपने ई-मंच ‘Shopo’ का शुभारंभ किया था | लेकिन अब एक छोटी समय अवधि के भीतर Snapdeal अब अपने इस Shopo नामक मंच को बंद करने जा रही है | कंपनी ने आज Shopo के आधिकारिक ब्लॉग के माध्यम से इस योजना की घोषणा की। आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया है,

“ इस छोटे से समय में, हमने एक साथ गतिशीलता से भारत में C2C क्षेत्र के आयामों को तलाशा, लेकिन फ़िलहाल के लिए हम अपनी  Shopo यात्रा का समापन कर रहें हैं, इसके साथ ही Shopo एप्लिकेशन और वेब स्टोर 10, फरवरी 2017 से काम करने बंद कर देंगें, लेकिन किसी भी मदद की आवश्यकता जैसी स्थिति के चलते आप के लिए [email protected] के जरिये हम उपलब्ध रहेंगें ”

हम सब जानते हैं कि Snapdeal हाल ही में काफ़ी नुकसान झेल रही है, और प्रतिस्पर्धी में बने रहने के लिए कंपनी लगातार अधिक पूंजी हासिल करने की तलाश में है | इसका अंदाज़ा इस बात से भी लगाया जा सकता है की अपने इस हस्तकला मंच को बंद करने से पहले Snapdeal अपने फैशन उत्पाद मंच Exclusively.com को भी बंद कर चुकी है |

यह ख़बर Shopo के वरिष्ठ उपाध्यक्ष और प्रभारी, Sandeep Komaravelly द्वारा कंपनी का साथ छोड़ने के कुछ समय बाद ही आई है | इसके अलावा कॉर्पोरेट विकास के प्रमुख, अभिषेक कुमार भी अवर्णित आधार पर कंपनी का साथ पहले ही छोड़ चुकें हैं |

Snapdeal के स्वामित्व वाली Shopo का अधिग्रहण कंपनी द्वारा 2013 में किया गया था | यह ‘शून्य कमीशन व्यापार मॉडल’, छोटे और मध्यम आकार के व्यापारों को चैट के साथ ही, खरीदने और मंच पर बेचने की सुविधा प्रदान करता था | इस एप्लिकेशन ने पहली बार, किसी सरकारी दस्तावेजों या सत्यापन प्रक्रिया की आवश्यकता के बिना, SMBs और छोटी दुकानों के मालिकों को ऑनलाइन खरीदफरोख में सक्षम बनाया था |

इस बंद की ख़बर भले ही हैरान करने वाली रही हो, लेकिन इस टीम का FreeCharge में विलय होने के बाद से ही ऐसी संभवनाएं लगाई जा रहीं थी |

Snapdeal ने ब्लॉग क्र जरिये यह भी कहा कि,

“ जैसा की  Shopo टीम ने नई समस्याओं को हल करने हेतु क़दम उठाया है, हम पूरी विनम्रता के साथ इस यात्रा में हमारा साथ देने के लिए आप सबका धन्यवाद  करतें हैं, यह आप के बिना संभव नहीं होता, हम आपके साथ हासिल की हुई उपलब्धियों का काफ़ी सम्मान करते हैं और जल्द ही आपके साथ एक नए सफ़र को शुरू करने की कमाना करते हैं ”

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन