इंटरनेट खबर

‌Facebook Lite के अब 200 मिलियन उपभोक्ता, अब और भी देशों में कर सकते हैं डाउनलोड

Facebook ने दुनिया बदल के रख दी है। इस सेवा के फयैन वहां तक फैले हुए हैं, जहां लोगों को ढंग की इंटरनेट सेवाएं भी उपलब्ध नहीं हैं। ऐसे ही उपभोक्ताओं के लिये, कंपनी ने 2015 में Facebook Lite लांच किया था। इसी Facebook Lite पर अब करीब 200 मिलियन उपभोक्ता हो गये हैं, और इस अवसर की खुशी मनाते हुए, Facebook इसे और भी देशों में लांच कर रही है।

Facebook Lite ऐप्लिकेशन, जून 2015 में लांच हुई थी और एक मिलियन उपभोक्ताओं को हासिल करने में उन्हें तकरीबन एक वर्ष लग गया था – अगले वर्ष मार्च तक। उसके बाद से कंपनी विस्तार ही करती जा रही है और अब उनसे 100 मिलियन उपभोक्ता और भी जुड़ गये हैं।

इस बात की घोषणा करते हुए कंपनी के साथ.ई. ओ., मार्क ज़करबर्ग ने कहा:

कम बैंडवथ दर के कारण, हमने Facebook का एक हल्का संस्करण बनाया। अब, दुनिया भर के करीब 200 मिलियन लोग आपसे में जुड़ने के लिये इसका उपयोग करते हैं। मुझे ये सुन कर बहुत ही प्रसन्नता हुई – दिन की ये बहुत ही अच्छी शुरवात है।

Facebook Lite, दरसल असली मंच का एक छोटा संस्करण है, जिसे उन लोगों को ध्यान में रख कर बनाया गया है, जिनको अच्छा इंटरनेट कनेक्शन नहीं उपलब्ध होता।

ऐप का साइज़ बहुत ही कम है और ये बहुत ही कम डेटा खाती है। ये कम बैंडवथ भी प्रयोग करती है और मेसेज भेजने या प्राप्त करने के लिये आपको मेसेंजर की ज़रूरत नहीं पड़ेगी। ऐप कम बैटरी भी खाती है और इसमें कुछ कम फ़ीचर भी हैं। उदाहरण स्वरूप, इस ऐप पर विडियो नहीं चलते।


परंतु इसका लोकप्रीयता को देखते हुए ये स्पष्ट है कि लोगों को इससे कोई अंतर नहीं पड़ता।

बहरहाल, ऐप में उपयोगिता भी बढ़ती जा रही है। कंपनी की सी.ओ.ओ. होने के नाते शेरिल सैंडबर्ग ने बताया, कि अब ऐप में आप व्यापार पेज का मैनेजमेंट भी संभाल सकते हैं।

दुनिया के कई देशों में लोग मोबाइल से या तो आसानी से, या केवल मोबाइल से ऑनलाइन आ पाते हैं। यहां तक कि व्यापारी भी। FB Lite, उपभोक्ताओं को विस्तार करने और अब वे व्यापार बढ़ाने में सहायता देता है, भले ही बैंडवथ बिलकुल कम ही क्यों न हो।

दुनिया भर तक पहुंचने के लिये Facebook जितनी महनत कर रही है, ये उसका फल है। उपभोक्ता डेटा के अनुसार, उनका औक़सतन प्रति उपभोक्ता रेवेन्यू $1.10 से 28% बढ़ कर $1.41 पहुंच गया।

इस बढ़ंत का Facebook के कुल रेवेन्यू पर भी बहुत अंतर पड़ा है। रेवेन्यू 52% की उछाल के साथ, $839 मिलियन प्रति तिमाही पहुंच गया। ये बहुत ही अच्छा है और उन अन्य स्थापित मंचों से अधिक भी, जो Facebook की तरह धीमे इंटरनेट वाले क्षेत्रों के लिये विशेष सुविधायें नहीं लाती हैं।

ऐप अब इज़राइल, इटली, अरब व दक्षिण कोरिया समेत कई नये देशों में लांच हो रही है।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन