इंटरनेट खबर

अब YouTube की “मोबाइल लाइव-स्ट्रीमिंग” सेवा का इस्तेमाल कर पायेंगे और अधिक उपयोगकर्ता

YouTube हाल ही में कई नई सुविधाओं के लिए समावेश की जगह बन कर उभरा है | लाइव-स्ट्रीमिंग सेवाओं के साथ अब कंपनी अपने सोशल प्लेटफ़ॉर्म को और आधुनिक बनाने की तैयारियों में नज़र आ रही है |

आज की घोषणा में यह उपरोक्त बात और भी साफ़ हो गयी, क्योंकि आज लाइव-स्ट्रीमिंग सेवाओं को बढ़ावा देने के नजरिये से कंपनी ने ऐलान किया कि,

“ 10,000 से अधिक सब्सक्राइबर रखने वाले ग्राहक भी अब YouTube की मोबाइल लाइव-स्ट्रीमिंग सेवा का लुफ्त उठा सकेंगें ”

हम आपको बता दें कि आज के समय YouTube पर 10,000 से अधिक सब्सक्राइबर रखने वाले ग्राहकों की संख्या भी अत्यधिक है | Google के अनुसार, अब सैकड़ों हज़ार YouTube उपयोगकर्ता इस सेवा का आनंद लें पायेंगें |

हालाँकि कंपनी ने आने वाले समय में हर किसी के लिए इस सुविधा का विस्तार करने का वादा किया है, लेकिन कंपनी के अंदाज़ के मुताबिक इससे जुड़े कब और कैसे जैसे सवालों का अभी कोई ख़ुलासा नहीं किया जाएगा |

इसके पहले भी आप डेस्कटॉप के जरिये, कितने भी सब्सक्राइबर आधार के साथ लाइव-स्ट्रीमिंग सुविधा पा सकतें हैं |

इसके साथ ही Google अब Super Chat नामक एक सेवा की भी शुरुआत करने वाला है, जिससे रचनाकारों को पैसे कमानें में और भी सहूलियतें मिल सकेंगी | इस सेवा का इस्तेमाल 20 से अधिक देशों के रचनाकार कर सकेंगें | इसके जरिये दर्शक भी पैसों के जरिये अपने मैसेज को हाईलाइट करवा सकेंगें ताकि वह अपने चहेते रचनाकार की नज़र में आ सकें | ऐसे मैसेज चमकीले रंगों में, क़रीब पांच घंटें तक चैट विंडो के शीर्ष पर रहेंगें |

यह वाकई एक शानदार और अनूठी पहल साबित होगी, l.लेकिन देखने वाली बात यह भी होगी की प्रशंसा के साथ ही लोग इसका इस्तेमाल रचनाकारों को शर्मिंदा करने जैसी गतिविधियों के लिए भी कर सकेंगें | अब देखना यह है कि क्या Google इन सब बातों के लिए भी कोई हल निकाल पाएगा या नहीं ?

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन