इंटरनेट खबर

भुगतान बैंक सेवाओं के लिए, ‘IndiaPost’ को “रिजर्व बैंक” से मिली अंतिम मंजूरी

Airtel और Paytm के बाद अब भारत में सबसे बड़ी डाक प्रणालियों में से एक, IndiaPost ने भी अपनी भुगतान बैंक सेवा शुरू करने हेतु, भारतीय रिजर्व बैंक से अंतिम अनुमति प्राप्त कर ली है | इसी के साथ ही IndiaPost अब यह अनुमति प्राप्त करने वाली तीसरी इकाई बन चुका है |

पिछले साल रिजर्व बैंक ने भारत में भुगतान बैंक सेवाओं की स्थापना के लिए ग्यारह संस्थाओं को अंतरिम अनुमति दे दी थी | हालांकि, उन 11 में से अब तक केवल तीन को ही सेवा संचालित करने हेतु अंतिम अनुमति प्राप्त हुई है | जिसमें से एक IndiaPost ने पिछले सप्ताह ही यह अनुमति प्राप्त की है |

इसके साथ ही सरकार ने IndiaPost के इस भुगतान बैंक के अंतरिम प्रबंध निदेशक (एमडी) और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ ) के रूप में,  ए.पी. सिंह को नियुक्त किया है | इसके पहले वह विनिवेश विभाग में संयुक्त सचिव, भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) में वित्तीय समावेशन और भुगतान प्रणालियों के मंत्रालय में बतौर उप महानिदेशक अपनी सेवाएं प्रदान कर चुकें हैं |

इस सेवा के लिए प्रारंभिक रोडमैप के अनुसार, देश में प्रत्येक डाकघर भुगतान बैंक सेवाओं की पेशकश करेगा | वर्तमान में, डाक सेवा विभाग के पास 1,55,000 डाकघरों का एक नेटवर्क है |

रिपोर्टों के अनुसार, IndiaPost भुगतान बैंक के मद्देनज़र, मौजूदा डाकघरों के साथ सह-स्थित होने वाली 650 नई शाखाएं खोलने की योजना बना रहा है |

अब देखना यह है कि यह स्वदेशी सेवा लोगों को कितनी राहत दे पाती है, क्योंकि जहाँ Paytm और Airtel प्रौद्योगिकी आधारित सेवाओं पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं, वहीं IndiaPost की विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर पहुंच है |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन