खबर

Ford ने ‘मुसा तारीक़’ को प्रमुख ब्रांड अधिकारी नियुक्त किया

Ford मोटर कंपनी ने अपने इतिहास में पहली बार प्रमुख ब्रांड अधिकारी नियुक्त किया है। इस नये अधिकारी के पास मार्केटिंग व कम्युनिकेशन्स में गुणों की खदान है। वाहन बनाने वाली कंपनी ने मुसा तारीक़ को अपना नया वाइस प्रेज़िडेंट और प्रमुख ब्रांड अधिकारी नियुक्त किया है। वे कंपनी के वैश्विक ऑपरेशनों के लिये सबसे वरिष्ठ क्रियेटिव व रणनैतिक ब्रांडिंग नियुक्त हुए हैं।

कंपनी ने एक प्रेस रिलीज़ में कहा:

मुसा तारीक़ 30 जनवरी को Ford से वाइस प्रेज़िडेंट और प्रमुख ब्रांड अधिकारी के रूप में जुड़ रहे हैं, Ford के ऑटो व मोबिलिटी कंपनी के रूप में विस्तार करने और उनके द्वारा देश के उपभोक्ताओं को जोड़ने और इंगेजमेंट करने के उद्देश्य को सपोर्ट करने के लिये।

तारीक़ इससे पहले बहुत ही प्रतिष्ठित पदों पर रहे हैं। वे Ford से जुड़ने से पहले Apple में रीटेलरों के मार्केटिंग और कम्युनिकेशन निदेशक थे। इससे पहले वे Nike के सोशल मीडिया व कम्युनिटी के वरिष्ठ निदेशक और उससे भी पहले Burberry के सर्वप्रथम सोशल मीडिया प्रमुख रह चुके हैं।

Ford के सी.ई.ओ. के रूप में, मार्क फ़ील्ड्स कंपनी को एक अलग ही क्षेत्र में लेकर जा रही है, जो कि मोबिलिटी सेवाओं, स्वचलित वाहनों और इलेक्ट्रिक वाहनों पर आधारित है। उन्हें इस कार्य में अब मुसा तारीक़ सहयोग देंगे।

मुद्दे पर बात करते हुए फ़ील्ड्स ने कहा:

हमारे पास और भी उपभोक्ताओं और स्टेकहोल्डरों से जुड़ने का अवसर है। मुसा ने दुनिया के कुछ सबसे बड़े ब्रांडों में बदलाव लाने वाला कार्य किया है और वो परंपका को चुनौती देने वाले लीडर हैं।

मुसा तारीक़ Ford के वैश्विक मार्केटिंग, सेल्स व सेवाओं के ई.वी.पी. स्टीफ़न ओडेल और उनके कम्युनिकेशन्स के ग्रुप वाइस प्रेज़िडेंट रे डे को रिपोर्ट करेंगे। ये नियुक्ती कंपनी के लिये महत्वपूर्ण थी, क्योंकि वे पिछले तीन सालों से खुद को एक वाहन व तकनीक कंपनी के रूप में स्थापित करने का प्रयास कर रहे हैं, व भी एक स्टार्टप की मानसिकता के साथ। तारीक़ जैसे बुद्धिमान व्यक्ति के साथ, Ford Motors अपने उद्देश्य को और भी बहतर तरीके से प्राप्त कर पायेगी।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन