इंटरनेट ई-कॉमर्स खबर

Flipkart में अधिकारीयों का इस्तीफा जारी है, दो उपाध्यक्षों ने फिर छोड़ी कम्पनी

भारत में Flipkart एक ऐसी कपंनी है जिनके कार्यकारी अधिकारी सबसे ज्यादा कम्पनी को छोड़ के जा रहे हैं, और कम्पनी को इस समय भी उसी का सामना करना पड़ रहा है| हाल ही में मिली रिपोर्ट के अनुसार, दो और कार्यकारी अधिकारीयों, इंजीनियरिंग के उपाध्यक्षों ने कम्पनी को छोड़ने का फैसला कर लिया है|

आशिष अग्रवाल और हरी वासुदेव, दोनों ही कम्पनी में इंजिनयरिंग के वरिष्ठ उपाध्यक्ष हैं, दोनों के ही कम्पनी को छोड़ने की बात तीन Flipkart के अधिकारीयों ने Economics Times को बताई| आशिष अग्रवाल ने जून में Flipkart को ज्वाइन किया था इससे पहले वो Micromax Informatics में chief technology और product officer थे| वह Flipkart की इंजीनियरों की टीम का नेतृत्व करते थे| हरी वासुदेव कम्पनी में दो सालों से थे वह e-commerce की सप्लाई चैन को बदलने की तकनीक को सँभालते थे|

हाल ही में Saikiran Krishnamurthy, Surojit Chatterjee और Samardeep Subandh ने भी कपनी को छोड़ दिया| Saikiran कम्पनी के सप्लाई चैन e-kart के हेड थे, वहीँ Surojit, प्रोडक्ट्स के वरिष्ठ उपाध्यक्ष और Samardeep, Flipkart में चीफ मार्केटिंग ऑफिसर थे| अधिकारीयों का कम्पनी छोड़ने का सिलसिला तब से ज्यादा बढ़ गया जब से कम्पनी के Tiger Global Management executive, Kalyan Krishnamurthy ने CEO की कुर्सी संभाली| उन्हें पूर्व सह-संस्थापक Binny Bansal की जगह दी गयी|

कम्पनी ने आधिकारिक रूप से ET को बताया की,

“हाल ही में बहुत सि अधिकारीयों का Flipkart को छोड़ के जाना कम्पनी के लिए कंही न कंही सही साबित नहीं हो रहा है और कम्पनी की कुछ हद तक इन कारणों से नुकसान का भी सामना करना पड़ रहा है|”

Binny Bansal को अब व्यापार के ऊपर से सभी चीजों पर नज़र रखने की जिमेदारी सौपीं गयी है इनमें payments (PhonePe) and fashion (Myntra and Jabong) शामिल हैं| Kalyan Krishnamurthy का कहना है की वह कम्पनी के इस काम को दैनिक रूप में करवाना चाहते हैं|

टेक्नो लवर, घूमना, खाना, किताबें पढ़ना और नये गैजेट्स का है शौख़| नयी चीजों को जानना और नए लोगों से मिलना है पहली पसंद|

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन