खबर सैमसंग स्मार्टफोन्स

Samsung Galaxy S8 में कृत्रिम बुद्धी असिस्टेंट, ‘Bixby’ को खोलने के लिये हो सकता है एक विशेष बटन

भले ही Samsung को फटते हुए Note 7 डिवाइसों के लिये कड़ी निंदा झेलनी पड़ी हो, परंतु वे अप्रैल में आने वाले अपने Samsung Galaxy S8 को लेकर बहुत आशान्वित दिख रहे हैं। चलन से मेल खाते हुए, ये डिवाइस Samsung के अपने कृत्रिम बुद्धी असिस्टंट से लैस होकर आयेगा। और कंपनी इसे खोलने के लिये आपको एक नया बटन देने वाली है। एक बिलकुल नयी बटन!

जैसा कि हम पहले भी बता चुके हैं, Samsung ने Siri के निर्माताओं द्वारा बम्यॉ गये कृत्रिम बुद्धी मंच Viv को कुछ समय पहले अधिग्रहित कर लिया था। और अभी तक की जानकारी के अनुसार, Samsung इस कृत्रिम बुद्धी असिस्टंट का बहुत लाभ उठाने वाली है। साथ ही, इन्होंने इसका नाम ‘Bixby’ रखा है।

समान कृत्रिम बुद्धी असिस्टंट होने के साथ ही, Viv में ऐसे ऐल्गॉरिदम डाले गये थे कि वो कठिन प्रश्नों के उत्तर भी दे सके। अभी के कृत्रिम बुद्धी असिस्टंट जिन प्रश्नों पर फस जाते हैं, उनका जवाब ‘Bixby’ देगा। इसे लांच के समय Viv के सी.ई.ओ. ने कहा था कि ये परतों वाले प्रश्नों के उत्तर भी दे सकता है। जैसे कि “मुझे डैलास के लिये एक उड़ान ढूंढ़ के दो, जिसकी सीट में शैक बैठ सके”।

Viv आधारित वॉइस असिस्टंट सभी Samsung की ऐपों पर उपलब्ध होगा और इसे स्मार्टफ़ोनों पर डाउनलोड किया जा सकेगा। इसे Google Photos या Apple Photos जैसी ऐपों के साथ जोड़ा भी जा सकेगा। ये न केवल कार्य करने के लिये थर्ड पार्टि ऐपों से जुड़ सकता है, परंतु ये स्वयं भी अपना कोड लिखने में सक्षम होगा।

रिपोर्टो, के अनुसार, ये कृत्रिम बुद्धी असिस्टंट फ़ोन के कैमरा से भी लिंक होगा। इंटिग्रेट किया गया फ़ीचर टेक्स्ट को OCR के ज़रिये समझेगा। साथ ही, ये चीज़ों को पहचाने व उनकी नाम बताने के अलावा, उनको खोज भी सकेगा। अभी तक मज़ा नहीं आया? तो ये सुनिये।


ये नवीनतम स्मार्टफ़ोन एक चौथी बटन से लैस होगा, जिसे दबा कर आसानी से कृत्रिम बुद्धी असिस्टंट ‘Bixby’ को खोल जा सकेगा। इससे कंपनी के Galaxy S8 की स्पेसिफ़िकेशन को लेकर लग रहे कयासों में कुछ और जुड़ गया है, जिसमें पहले ही थर्मल पाइप, 5.7 इंच की डिस्प्ले, माइक्रो USB पोर्ट व हेडफ़ोन जैक व अन्य शामिल थे।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन