एप्पल खबर

Qualcomm ने Apple द्वारा किए गए पेटेंट रॉयल्टी संबंधी मुक़दमें को बताया निराधार, कहा “जानबूझ कर भ्रमित का रहा है Apple”

An Apple logo hangs above the entrance to the Apple store on 5th Avenue in the Manhattan borough of New York City, July 21, 2015. REUTERS/Mike Segar/File Photo

बीते शुक्रवार को Apple ने Qualcomm के खिलाफ लगभग 1 बिलियन डॉलर का पेटेंट रॉयल्टी संबंधी मुकदमा दायर किया था | Qualcomm कई वायरलेस पेटेंट लाइसेंस हासिल करने के साथ ही साथ, iPhone के लिए एक मॉडेम आपूर्तिकर्ता भी है |

इन सबके जबाव में स्वाभाविक रूप से Qualcomm ने Apple के दावों को खारिच करते हुए, मामले के खिलाफ़ लड़ने का निर्णय लिया है |

अपने एक बयान में Qualcomm ने Apple के दावों को निराधार बताया और साथ ही कहा कि Apple ने ‘जानबूझकर हमारे समझौतों और वार्ता को mischaracterized’ किया है |

हालांकि इस मामले से जुडी ज्यादा जानकारियाँ अभी सामने नहीं आईं हैं | Apple का कहना है कि Qualcomm उन प्रौद्योगिकियों के लिए रॉयल्टी की मांग कर रहा है, जिन पर उनका स्वामित्व ही नहीं है और जिसके चलते अन्य आपूर्तिकर्ताओं से फोन के कुछ भागों की आउट सोर्सिंग पर रोक लगा दी है |

वहीं Qualcomm ने अपने बयान में Apple द्वारा दिए गए सभी बिन्दुओं को निराधार बताया और इस पर Qualcomm के कार्यकारी उपाध्यक्ष और जनरल परामर्शदाता, Don Rosenberg ने कहा,

“ अभी भी हम विस्तार से शिकायत की समीक्षा कर रहें हैं और अभी तक हमनें Apple द्वारा लगाये गए सभी आरोपों को निराधार ही पाया है, Apple जानबूझकर हमारे समझौतों और वार्ता को गलत तरीके से पेश कर रहा है, और साथ ही हमारे लाइसेंस कार्यक्रम के माध्यम से हमारे मूल्यवान प्रौद्योगिकी अविष्कारों के चलते, सभी मोबाइल डिवाइस निर्माताओं के साथ की गई साझेदारियों के गलत मायने भी पेश कर रहा है ”

अब देखना यह है कि इन सबका नतीज़ा क्या होता है, और अनुमान के मुताबिक यह विवाद सालों का सफ़र तय कर सकता है, जब तक कोर्ट के बाहर ही दोनों आपसी विवाद का निपटारा न कर लें |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन