खबर स्टार्टअप्स

हैदराबाद में अर्जित सफ़लता के बाद, अब Uber बंगलुरु में भी खोलेगा अपने सेंटर

Ride-hailing की बेहतरीन सुवीदा Uber जल्द ही अपनी सुविधाओं को भारत के बाज़ार में फ़ैलाने की तैयारी कर रहा है जो उसके लिए बहुत बड़ा बाज़ार साबित हो सकता है| चाइना में होने के साथ South Asia में भी कम्पनी ने तेज़ी के साथ विकास किया है और यह अब अपनी सुविधाओं को और अधिक बढ़ाने की तैयारी कर रहा है| ET की रिपोर्ट के अनुसार Uber अब भारत के सनसे बड़े तकनीकी वाले शहर बंगलुरु में अपना सेंटर खोलने की तैयारी कर रहे हैं|

ऐसा कहा जा रहा है की यह सेंटर सिर्फ चालकों और उपयोगकर्ताओं को सहारा नहीं देंगें बल्कि दैनिक रूप से भी आई उनकी वाहनों में दिक्कतों से उन्हें निजत दिलाएंगे| बैंगलुरू में खुलने वाला यह नया सेंटर साउथ एशिया के रीजन को संभालेगा और पुरे देश के लिए यंही से काम करेगा| वर्तमान समय में Uber का हैदराबाद और बैंगलुरू में एक-एक सेंटर है| जंहा हैदराबाद सुविधाओं को प्रदान करने के लिए और बंगलुरु का सेंटर कम्पनी का तकनिकी हिस्सा या इंजिनीअरिंग हिस्सा देखता है|

Uber ने पहले घोषणा की थी की पांच सालों में दुनिया के सबसे बड़े ऑफिस को US से बाहर, हैदराबाद में बनाने के लिए बनाने के उसने 50 मिलियन डॉलर का निवेश किया था| हैदराबाद ही पहला वह शहर बना जंहा कम्पनी ने अपनी पहली कैशलेस पेमेंट की सुविधा को चलाया था| इस निवेश को लगाने से पहले US के बहार हैदराबाद में Uber का अब तक का सबसे बड़ा ऑफिस था|

अपने कड़े प्रतिद्वंदी Ola की तुलना में Uber इस समय 29 शहरों में काम कर रही है| भारत के बाज़ार को देखते हुए Uber ने और भी बहुत सी सुविधाएँ जैसे UberMoto, Fleet Management, Business Segment और भी बहुत सि सुविधाओं को लांच किया| भारत में अपने निवेश की खबर को सही बताते हुए कम्पनी के एक सदस्य ने ET से कहा की,

“अभी हम अपने प्लान के बारे में बहुत ज्यादा तो नहीं बता सकते लेकिन हम ऐसी ही भारत में अपनी और राइडिंग की सुविधाओं को देखते हुए यंहा निवेश करते रहेंगे|”

Uber ने हाल ही में अपने mobile app को भी नए फीचर्स के साथ लाया है जैसे visited destinations, better mapping, support centre आदि| इसके साथ ही कम्पनी ने हाल ही में अपनी सुविधाओं को श्रीलंका में भी लांच किया है जिसे भी हैदराबाद के ऑफिस से ही कंट्रोल किया जा रहा है| भारत और साउथ अफ्रीका के Uber सुविधाओं के अध्यक्ष अमित जैन ने भी हैदराबाद के ऑफिस पर कहा

“हम अपने व्यापार की सभी संभावनाओं को देखकर उसमें निवेश करते हैं| हमें हैदराबाद में 350 से 400 लोगों की एक अच्छी और सहयोगी टीम चाहिए होगी| टीम ने 12 महीने में देश में अच्छा काम किया और अब 800 लोगों की टीम बना ली|”

टेक्नो लवर, घूमना, खाना, किताबें पढ़ना और नये गैजेट्स का है शौख़| नयी चीजों को जानना और नए लोगों से मिलना है पहली पसंद|

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन