खबर स्टार्टअप्स

फार्मा तकनीक स्टार्टअप, MUrgency में ‘Wipro के वारिस’ ने किया निवेश

आपातकालीन सेवा प्रदान करने वाले, फार्मा तकनीक स्टार्टअप, MUrgency को Wipro के वारिस रिषद प्रेमजी से निवेश प्राप्त हुआ है |  यह निवेश तब हासिल किया गया, जब कंपनी ने इस वित्तीय वर्ष के अंत से पहले मार्च तक में वैश्विक स्तर पर रोड शो के जरिये निवेश हासिल करने की योजना बनाई है |

हालाँकि रिषद प्रेमजी कंपनी में निवेश करने वाले अकेले बड़े निवेशक नहीं हैं | इसके पहले Tata Sons के चेयरमैन, रतन टाटा और Infosys सह-संस्थापक गोपालकृष्णन और एस डी शिबूलाल भी इस स्टार्टअप में निवेश कर चुके हैं |

इस बीच रिषद प्रेमजी द्वारा किए गए निवेश के आँकड़े को सार्वजानिक नहीं किया गया है, लेकिन कुछ सूत्रों ने ET को बताया कि यह राशि क़रीबन 68 लाख रुपये की है |

रिषद प्रेमजी ने PremjiInvest और Wipro से परे, अपनी व्यक्तिगत क्षमता के तौर पर इसमें निवेश किया है | इसके साथ ही निवेश बैंक UBS भी 2017 की तर्ज़ पर MUrgency पर नज़र बनाये हुए है |

सिलिकॉन वैली आधारित यह स्टार्टअप स्थानीय पेशेवरों के साथ गठजोड़ कर, आपातकालीन सेवाएं प्रदान करता है, जिसके लिए आपको इनके ही पोर्टल में भुगतान करना होता है |

यह पहले ही दो क्षेत्रों में कार्यरत है और इसके साथ ही, वर्तमान चरण में यह स्टार्टअप एनसीआर, मुंबई, बेंगलूर, चेन्नई, हैदराबाद और कोलकाता में अपनी सेवा शुरू करने की योजना बना रहा है | साथ ही इस वित्तीय वर्ष के भीतर यह अपनी सेवाओं का प्रसार मेक्सिको में भी कर सकतें हैं |

इसके अंतर्गत, कॉल प्रतिक्रिया सेवा के रूप में लगभग 350 रुपये खर्च होते हैं, जबकि दवा का अतिरिक्त प्रभार इत्यादि को देखते हुए औसतन रूप से 3,000 रूपये प्रति कॉल तक का खर्च आता है |

नई तकनीकों और विचारों के समायोजन को तलाशता मुसाफ़िर, जिसका मानना है कि उद्यमशीलता और प्रोद्योगिकी मिलकर ही विकास और विस्तार का अवसर प्रदान करतीं हैं |

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन