खबर स्टार्टअप्स

ZoloStays ने Series A में Nexus Venture Partners से हासिल किए 26 करोड़ रूपये

अगर आप यह सोच रहे हैं की आवास प्रदान करने वाले Oyo और Zo जैसी सुविधा अब भारत में नहीं चलेगी तो यह खबर आपको खुश कर सकती है| Zolo नाम से प्रचलित, ZoloStays ने आज घोषणा की है कि हाल ही में हुए निवेश के चरण में Nexus Venture के स्वामित्व कम्पनी की तरफ से उन्होंने अपने लिए लगभग 26 करोड़ रुपए जुटाएं हैं|

सीरीज A में निवेश की पूंजी में InnoVen Capital की तरफ से उपलब्ध कराया हुआ क़र्ज़ का 4.5 करोड़ रुपए भी शामिल था|

कम्पनी के Registrar of Companies (RoC) में भरे दस्तावेजों की माने तो Nexus Venture Partners ने पहले चरण में 4,153 शेयर को 48,300 के किश्त पर दिया था वहीँ दुरी निवेशक कम्पनी ने इसमें जोड़ते हुए 1.67 करोड़ रुपए का निवेश किया|

आज की तारीख में seed funding और Series-A के चरण से होते हुए कम्पनी ने अब तक 37 करोड़ रुपए के निवेश पा चुकी है| कम्पनी के chief executive, Nikhil Sikri ने भी ETTech के चरण की ख़त्म होने की घोषणा की है जो आखरी महीने में हुआ था|

नए निवेश को इस्तेमाल करने की बात करते हुए कम्पनी के CEO, Nikhil Sikri ने कहा की,

“हमने सोचा है की हम अपने नए निवेश को तेज़ी से विकसित होने के लिए इस्तेमाल में लायेंगे, जिससे हम 5000 बिस्तरों से उठकर 12,000 तक पहुँच जाएँ और चेन्नई तथा National Capital Region तक भी इस वर्ष के अंत तक पंहुच सकें|”

Nexus Venture Partners के संस्थापक समीर ब्रिज वर्मा ने कहा की,

“हम मानते हैं की बड़े शहरों में बाहर से पढाई या काम करने आने वाले छात्रों या कर्मियों के लिए उनके अनुरूप रहने का प्रबंध करने वाली सुविधा का बाज़ार में बहुत बड़ा गैप है|”

उन्होंने इसपर आगे बोलते हुए कहा की Zolo पहली ऐसी कम्पनी है जो ऐसी सुविधाएँ उपलब्ध करा रही है जिसमें तकनीक और सुविधा के अनुसार लोगों को उनके मंच देगी| और यही चीज़ उन्हें कम समय ,में आगे बढ़ने और तेज़ी से विकास करने में मदद करेगी|

IIT-Delhi से स्नातक कर रहे निखिल सिकरी और उसके भाई अखिल द्वारा ZoloStays की स्थापना की गयी थी जो फ़िलहाल सिर्फ बंगलुरु और पुणे में काम कर रहे हैं| भारत के अन्य शहरों में भी जल्द ही इसे चलने की तयारी हो रही है|

कम्पनी ने अभी real estate builders से साझेदारी की है जन्हा से उन्होंने कर्मियों को लेना शुरू किया है जिन्हें हर महीने 5000 से 17,000 तक पैसे दिए जा रहे हैं जिसके अन्दर खाना, और अन्य सुविधाएँ भी जुड़ी हुई हैं|

 

टेक्नो लवर, घूमना, खाना, किताबें पढ़ना और नये गैजेट्स का है शौख़| नयी चीजों को जानना और नए लोगों से मिलना है पहली पसंद|

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह साफ़ तरह से स्पष्ट हो गया है, की प्रौद्योगिकी विकास हमारी मानवता को पार कर चुका है |
अल्बर्ट आइंस्टीन